Navy

स्पेशल रिपोर्ट: लापता विमान की खोज में नौसेना का टोही विमान जुटा

अवाक्स टोही विमान

नई दिल्ली: सोमवार को  अरुणाचल प्रदेश के इलाके में चीन सीमा के निकट लापता हुए भारतीय वायुसेना के विमान एएन-32 के खोज अभियान में अब नौसेना का टोही विमान भी शामिल हो गया है।





चूंकि इस विमान का कोई पता गत सोमवार से नहीं चला है इसलिये माना जा रहा है कि लापता विमान कहीं दुर्धटनाग्रस्त हो कर घने जंगलों में गिर गया है। लापता विमान के मलवे को खोजने के लिये नौसेना ने अपने अमेरिकी मूल के  टोही विमान पी -8- आई को तमिल नाडु के अरक्कोणम से दोपहर बाद एक बजे अरुणाचल प्रदेश के इलाके में भेजा। इसके अलावा वायुसेना के कई हेलीकाप्टर अरुणाचल प्रदेश और असम के इलाके में उड़ाया जा रहा है ।

गौरतलब है कि भारतीय वायुसेना का एक एएन-32 परिवहन विमान असम के जोरहाट वायुसैनिक अड्डे से  सोमवार को दोपहर बाद उड़ान भरने के बाद  दुर्धटनाग्रस्त हो गया था। इस विमान को चीन सीमा पर अरुणाचल प्रदेश के इलाके में मेचुका घाटी में मेचुका अडवांस्ड लैंडिंग ग्राउंड पर उतरना था।

 इस विमान के  विमानचालक दल के आठ और पांच अन्य यात्री सवार थे। इस विमान ने दोपहर बाद एक बजे उड़ान भरी थी। उड़ान भरने के 35 मिनट बाद इस विमान ने जोरहाट हवाई अड्डे से सम्पर्क खो दिया था। यहां वायुसेना के प्रवक्ता ने विमान के दुर्घटनाग्रस्त  होने की पुष्टि करते हुए कहा कि विमान का पता लगाने के लिये भारतीय वायुसेना ने अपने सभी संसाधन तैनात कर दिये हैं। प्रवक्ता ने कहा कि चूंकि विमान मेचुका हवाई पट्टी पर नहीं पहुंचा इसलिये उसी वक्त विमान का पता लगाने की कोशिशें शुरु कर दी गईं।

गौरतलब है कि 2016 में भी वायुसेना का ऐसा ही परिवहन विमान बंगाल की खाड़ी के ऊपर लापता हो गया था जिसका आज तक पता नहीं चल पाया है। इस विमान ने चेन्ने  के एक वायुसैनिक अड्डे से उडान भरी थी और अंडमान निकोबार के वायुसैनिक अड्डे की ओर जा रहा था। निराश होकर  वायुसेना ने सितम्बर, 2016 में इसकी खोज का काम बंद कर दिया था।

Comments

Most Popular

To Top