Navy

स्पेशल रिपोर्ट: बड़ी उपलब्धि है विक्रांत पर स्वदेशी कम्बैट मैनेजमेंट सिस्टम

आईएनएस विक्रांत

नई दिल्ली। देश में बन रहे विमानवाहक पोत आईएनएस विक्रांत पर तैनात होने वाला कम्बेट मैनेजमेंट सिस्टम भारत के प्राइवेट सेक्टर द्वारा पूरी तरह डिजाइन और बनाया गया है जिसका परीक्षण सफलतापूर्वक सम्पन्न हो चुका है।





यहां नौसैनिक अधिकारियों   ने इस कम्बैट मैनेजमेंट सिस्टम को  स्वदेशी रक्षा तकनीक की एक बडी उपलब्धि बताई है। अधिकारियों के मुताबिक भारत सरकार की मेक इन इंडिया नीति की भी यह एक अहम कामयाबी है। सरकार की नीति है कि रक्षा प्रणालियों और साज सामान का देश में ही विकास हो जिससे इन पर भारतीय सेनाएं आत्मनिर्भर हों।

 नौसैनिक अधिकारियों के मुताबिक इस सिस्टम का विकास मेसर्स टाटा पावर स्ट्रैटजिक  इंजीनियरिंग डिवीजन ने वेपंस एंड इलेक्ट्रानिक्स सिस्टम इंजीनियरिंग एस्टेबलिशमेंट द्वारा रूस की मार्स  कम्पनी के सहयोग से किया गया है।

इस स्वदेशी कम्बैट मैनेजमेंट सिस्टम को भारतीय नौसेना के चीफ आफ मेटीरियल, वाइस एडमिरल जी एस पैबी को सौंपा गया।  मेक इन इंडिया नीति को बढ़ावा देने के लिये प्राइवेट सेक्टर की तकनीकी क्षमता का भी लाभ उठाने को बढ़ावा दिया जा रहा है ताकि देश शस्त्र  प्रणालियों के मामले में आत्मनिर्भर हो सके।

गौरतलब है कि 40 हजार टन विस्थापन क्षमता वाले विमानवाहक पोत विक्रांत का निर्माण कार्य करीब एक दशक पहले शुरु हुआ था जिसे अगले साल  के अंत तक नौसेना को सौंपने की उम्मीद है।

Comments

Most Popular

To Top