Navy

स्पेशल रिपोर्ट: सेशल्स में भारतीय नौसैनिकों का भव्य स्वागत

भारतीय नौसैनिक

नई दिल्ली। हिंद महासागर के द्वीप देश सेशल्स के तट पोर्ट विक्टोरिया पर भारतीय नौसेना के चार युद्धपोतों के पहुंचने पर उनका भव्य स्वागत किया गया। ये युद्धपोत नौसेना के फर्स्ट ट्रेनिंग स्क्वाड्रन  (1-टीएस) के हैं। भारतीय पोतों के स्वागत में आयोजित एक समारोह में सेशल्स के विदेश मंत्री  बैरी फोर ने भारत और सेशल्स के बीच गहरे औऱ निकट के रिश्तों की चर्चा की।





बैरी फोर ने  पिछले साल सेसल्स की सेना को दूसरा डार्नियर विमान भेंट में देने के लिये भारत सरकार की सराहना की। इस दौरान मानद अतिथि के तौर पर मौजूद विदेश मंत्री बैरी फोर के सम्मान में समुद्री प्रशिक्षुओं ने रोमांचक नृत्य- संगीत  पेश किया। इस मौके पर 120 से अधिक अतिथि मौजूद थे। इस दौरान सेशल्स डांस एकेडमी ने भी आकर्षक नृत्य कार्यक्रम पेश किया।

पिछले महीने  मोजाम्बीक पहुंचने के पहले भारतीय पोत मारीशस की राजधानी पोर्ट लुई पहुंचे  थे जहां से उन्हें तूफान पीड़ितों की सेवा के लिये रवाना किया गया था।

 इनमें से एक आईएनएस तरंगिनी कोच्चि से सीधे पोर्ट विक्टोरिया पहुंचा जब कि तीन अन्य युद्धपोत अफ्रीका के तटीय देश मोजाम्बीक में आए भीषण समुद्री तूफान ईडाई से प्रभावित लोगों के लिये राहत व बचाव कार्य सम्पन्न करने के बाद सेशल्स  पहुंचे हैं। ये युद्धपोत हैं आईएऩएस सुजाता, आईएनएस शार्दुल  और भारतीय कोस्ट गार्ड के पोत सारथी।

भारतीय नौसैनिक

इन पोतों के पोर्ट विक्टोरिया पर पहुंचने पर भव्य अगवानी की गई। इस मौके पर सेशल्स में भारतीय नौसैनिक अताशे कमांडर वरुण पनीकर और अन्य अधिकारी मौजूद थे। सुजाता पोत पर भारतीय नौसेना के बैंड ने लोकप्रिय संगीत पेश किये। विक्टोरिया पहुंचने के तुरंत बाद भारतीय नौसेना ने सेशल्स दौरे के लिये आयोजित विभिन्न गतिविधियों की जानकारी दी।

भारतीय ट्रेनिंग पोतों पर योग के कार्यक्रम आयोजित किये गए। इस दौरान भारतीय उच्चायोग के स्टाफ मौजूद थे। इस पोत को  देखने के लिये आम जनता के लिये खोल दिया गया था। इस दौरान सेशल्स मिलिट्री एकेडमी के डेक कैडेटों ने पोत का दौरा किया।

बाद में पोत के कमांडिंग ऑफिसरों ने  कैप्टन वरुण सिंह के साथ राजदूत बैरी फोर विदेशी मामलों के मंत्री राजदूत बैरी फोर, भारत के उच्चायुक्त  डा. औसफ सैयद , सेशल्स के डिफेंस फोर्सेज के प्रमुख कर्नल क्लिफर्ड रोजलीन और सेशल्स कोस्ट गार्ड के कमांडर कर्नल साइमन डाइन से मुलाकात की। इस दौरान भारतीय नौसैनिकों द्वारा मोजाम्बीक में किये गए राहत कार्यों की व्यापक सराहना की गई।

08 अप्रैल  को आईएनएस सुजाता औऱ आईएनएस सारथी पर एक स्वागत समारोह का आयोजन किया गया। इस दौरान भारतीय हाई कमिश्नर के साथ जापान के राजदूत मकातो तोमीनागा  और ब्रिटेन के उच्चायुक्त केरोन रुजल्स मौजूद थे। इस दौरान यहां के समुद्री इलाके में समुद्री डाकुओं से निबटने वाली यूरोपीय सैन्य टुकड़ी यूनेवफार के फोर्स कमांडर रियर एडमिरल रिकार्डो हर्नांडेज लोपेज इटली के कैप्टन मसीमिलान और स्पेन के युद्धपोत के कमांडिग ऑफिसर भी मौजूद रहे।

Comments

Most Popular

To Top