Navy

खास रिपोर्ट: भारतीय नौसेना को मिला नया वारगेम साफ्टवेयर

भारतीय नौसेना 
फाइल फोटो

नई दिल्ली। नौसेना को आधुनिक युद्ध में पारंगत बनाने के लिये वारगेम का साफ्टवेयर यहां सौंपा गया। इस साफ्टवेयर का विकास  रक्षा अनुसंधान एवं विकास संगठन (DRDO) की अग्रणी प्रयोगशाला  इंस्टीट्यूट फार सिस्टम्स स्टडीज एंड एनेलिसिस (आईएसएसए)  ने किया है।





नेटसेट्रिक माहौल में दुश्मन पर हावी होने में यह साफ्टवेयर विशेष तौर पर सहायक होगा।इसके जरिये नौसेना के रणनीतिज्ञों को विशेष  और उच्च स्तर की ट्रेनिंग दी जा सकेगी।

इस प्रयोगशाला ने नई पीढ़ी का साफ्टवेयर विकसित किया  है।  यह साफ्टवेयर  विशाखापतनम स्थित मैरीटाइम वारफेयर सेंटर  के सहयोग से किया गया है ताकि आधुनिक समुद्री युद्ध की   भारतीय नौसेना की रणनीतिक जरुरतों को पूरा किया जा सके।

यह वारगेमिंग साफ्टवेयर डीआरडीओ के चेयरमैऩ डा. जी सतीश रेड्डी ने नौसेना के वाइस चीफ  वाइस एडमिरल जी अशोक कुमार को  यहां  इंस्टीट्यूट फार सिस्टम्स एंड ऐनालिसिस में सौंपा।

संस्थान का मुख्य जोर  युद्ध का माहौल बना कर युदध का अभ्यास करना  है  जिससे  समुद्री  वारफेयर सेंटर को  नवीनतम तकनीक और कम्प्यूटिंग टूल  का इस्तेमाल करने का मौका मिलेगा।   इस सेंटर में  कई सेनाओं को  शामिल कर  विश्व स्तर पर खेलेजाने वाले वारगेमिंग दृश्य और माहौल पैदा करना है।  यह वारगेम  वाइड एरिया नेटवर्क के जरिये  भौगोलिक तौर पर छितराए  इलाके में युद्ध अभ्यास करने में सहायक होगा।   इस वारगेम का नौसैनिक रणनीतिज्ञ आसानी से इस्तेमाल कर सकते हैं।

Comments

Most Popular

To Top