Navy

स्पेशल रिपोर्ट: भारत को अमेरिका से मिलेंगे 24 रोमियो नौसैनिक हेलिकॉप्टर

रोमियो हेलिकॉप्टर
फोटो सौजन्य- गूगल

नई दिल्ली। युद्धपोतों और पनडुब्बियों को निशाना बनाने वाला बहुउद्देश्यीय भूमिका वाला मल्टी रोल हेलिकॉप्टर एमएच-60आर रोमियो हेलिकॉप्टर भारत को बेचने की औपचारिक जानकारी अमेरिकी विदेश विभाग और रक्षा मुख्यालय पेंटागन ने अमेरिकी कांग्रेस को दे दी है।





ये हेलिकॉप्टर खासकर समुद्र के भीतर विचरण कर रही पनडुब्बियों को निशाना बनाने वाले माने जाते हैं। इन हेलिकॉप्टरों के भारतीय नौसेना में शामिल होने के बाद हिद महासागर में चीनी पनड़ुब्बियों पर बेहतर नजर रखी जा सकेगी। इस हेलिकॉप्टर की बदौलत भारतीय नौसेना सम्पूर्ण हिंद महासागर में एक बडी ताकत के तौर पर उभरेगी।

अमेरिकी  विदेश विभाग और रक्षा मुख्यालय के मुताबिक ऐसे  24 हेलिकॉप्टर 2.6 अरब डालर की लागत से भारतीय नौसेना को बेचे जाएंगे। भारतीय नौसेना ने लम्बे अरसे से इसकी मांग अपने रक्षा मंत्रालय के समक्ष रखी थी।

रोमियो हेलिकॉप्टर अमेरिकी रक्षा वैमानिकी कम्पनी लाकहीड मार्टिन कम्पनी ने बनाए हैं। अमेरिकी विदेश विभाग के मुताबिक रोमियो हेलिकॉप्टरों के भारतीय नौसेना को सप्लाई करने के फैसले से अमेरिकी विदेश और समर नीति को मजबूती मिलेगी। इससे अमेरिका के प्रमुख रक्षा साझेदार के साथ रिश्तों को और मजबूती मिलेगी। इससे भारत की सुरक्षा और मजबूत होगी।

अमेरिकी विदेश विभाग ने एक बयान मे कहा कि भारत अमेरिका का एक प्रमुख रक्षा साझेदार है जो  हिंद प्रशांत और दक्षिण एशियाई इलाके में राजनीतिक स्थिरता, शांति और आर्थिक विकास में महत्वपूर्ण खिलाड़ी हैं।

गौरतलब है कि शीतयुद्ध के दिनों अमेरिका के प्रतिद्वंद्वी देश माने जाने वाला भारत अब अमेरिका का प्रमुख रक्षा साझेदार के तौर पर उभर चुका है। अमेरिका ने पिछले एक दशक के दौरान 30 अरब डॉलर से अधिक के सैनिक साज सामान भारत को सप्लाई किये हैं।

Comments

Most Popular

To Top