Navy

स्पेशल रिपोर्ट: भारत-ऑस्ट्रेलिया नौसैनिक अभ्यास में अमेरिकी नौसैनिक भी  

भारत-ऑस्ट्रेलिया नौसैनिक अभ्यास

नई दिल्ली। भारत और  ऑस्ट्रेलिया के बीच अब तक का सबसे बड़ा साझा नौसैनिक अभ्यास आसइंडेक्स- 2019 विशाखापतनम में सम्पन्न हो गया। दो सप्ताह तक चले इस अभ्यास में भारतीय और ऑस्ट्रेलियाई नौसेनाओं ने अपने श्रेष्ठ युद्धपोत और सबसे अधिक संख्या में उतारे।





पहली बार इस अभ्यास में अमेरिकी नौसेना के 55 और न्यूजीलैंड की नौसेना के 20 सैन्य कर्मी भी शामिल  होकर इसे देखा।

पूर्वी नौसैनिक कमांड के नौसैनिकों ने ऑस्ट्रेलियाई नौसेना के युद्धपोतों कैनबरा, न्युकैशल, पारामात्ता  और सक्सेस को  भावभीनी विदाई दी और एक दूसरे से वादा किया कि दोनों फिर मिलेंगे। इस साझा अभ्यास से भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच रक्षा सहयोग औऱ सामरिक साझेदारी और मजबूत हुई है तथा इससे दोनों के बीच घनिष्ठता और बढ़ेगी। भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच साझा नौसैनिक अभ्यास का तीसरा संस्करण दो अप्रैल को शुरु हुआ था।

गौरतलब है कि भारत और ऑस्ट्रेलिया  हिंद प्रशांत के चार देशों भारत , अमेरिका, जापान और ऑस्ट्रेलियाक  अनौपचारिक गुट में हैं और दोनों मिलकर हिंद प्रशांत की साझेदारी को एक नया आयाम दे रहे हैं।

आसइंडेक्स के दौरान दोनों नौसेनाओं ने समुद्री रणनीति के तीनों आयामों पानी के नीचे , सतह पर और आसमान में साझा युद्धाभ्यास किये।

इस साझा युद्धाभ्यास में युद्धपोतों पर तैनात हेलिकॉप्टरों का भी इस्तेमाल किया गया। इस दौरान दोनों नौसेनाओं के पनडुब्बी नाशक  पी-8 समुद्र टोही विमानों के अलावा पनडुब्बियों को भी उतारा गया। इस दौरान पनडुब्बी नाशक रणनीति को परखा गया और हवाई सुरक्षा अभ्यास भी किये गए। समुद्री सतह पर मौजूद पोतों के खिलाफ कार्रवाई के अभ्यास भी किये गए। इस तरह दोनों नौसेनाओं को आपस में पेशेवर ज्ञान और प्रक्रियाओं के आदान प्रदान का भी विशेष मौका मिला।

Comments

Most Popular

To Top