Navy

‘INS इंफाल’ नौसेना में शामिल, सक्षम है गाइडेड मिसाइल को तबाह करने में

INS इंफाल

मुंबई। भारतीय नौसेना ने मिसाइल विध्वंसक पोत ‘इंफाल’ को पानी में उतार दिया है। यह जहाज गाइडेड मिसाइल का विनाश करने और रडार को चकमा देने में माहिर है। मझगांव डॉक शिपबिल्डर्स में ‘प्रोजेक्ट 15बी’ के तहत तीसरे पोत इंफाल को सफलतापूर्वक कमीशन किया गया।





जलावतरण के मौके पर मौजूद मझगांव डॉक शिपबिल्डर्स के कर्मियों ने भारत माता की जय और वंदे मातरम के नारे लगाए। इंफाल को समुद्र में उतराने से पहले विधिवत पूजा भी की गई।

इस मौके पर नौसेना की परंपरा का पालन करते हुए नौसेना प्रमुख एडमिरल सुनील लांबा की पत्नी और नौसेना पत्नी कल्यान संगठन की प्रमुख रीना लांबा ने पोत के एक हिस्से पर नारियल फोड़ा। नौसेना प्रमुख एडमिरल लांबा ने कहा कि एमडीएल, भारतीय नौसेना, डीआरडीओ, ओएफबी, बीईएल अन्य सार्वजनिक उद्यमों और निजी उद्योग की तालमेल वाली साझेदारी सुनिश्चित कर रही है कि बल का स्तर ऐसा बनाया जाए कि भारत के राष्ट्रीय सामरिक उद्देश्यों को पूरा किया जा सके। एडमिरल लांबा ने पोत के निर्माण में शामिल पूरी टीम को बधाई दी।

उल्लेखनीय है कि प्रोजेक्ट 15बी के तहत भारतीय नौसेना के लड़ाकू बेड़े के लिए कुछ बेहद शक्तिशाली, आधुनिक और तबाही मचाने में सक्षम लड़ाकू जहाजों का निर्माण किया जा रहा है। यह जहाज आधुनिक मिसिल प्रणाली और अन्य हथियारों के साथ-साथ ही स्टेल्थ तकनीक से लैस हैं।

बता दें कि स्टेल्थ के कारण यह जहाज आसानी से रहार की पकड़ में नहीं आता और इनका नजर रखना मुश्किल हो जाता है। प्रोजेक्ट 15बी के तहत तैयार किया गया पहला जहाज INS विशाखापत्तनम है जो नौसेना में सेवाएं दे रहा है।

Comments

Most Popular

To Top