Navy

Special report: 15 सालों बाद स्वीडन के तट पर भारतीय पोत

स्वीडन के तट पर आईएनएस तरकश

नई दिल्ली। भारतीय नौसेना का कोई युद्धपोत 15 सालों बाद स्वीडेन के समुद्र तट पर पहुंचा है। नौसेना के अत्याधुनिक और अत्य़धिक संहारक पोत तरकश ने 19 जुलाई को स्वीडन के करिसक्रोना नौसैनिक अड्डे पर पहुंच कर भारत और स्वीडन के बीच नये दौर के रक्षा सम्बन्धों को बहाल किया।





करिसक्रोना समुद्र तट पर भारतीय पोत पर सवार नौसैनिक अफसर स्वीडन के नौसैनिक अफसरों के साथ पेशेवर आदान-प्रदान, खेल और मनोरंजन गतिविधियों में भाग ले कर दोनों देशों के बीच समुद्री सहयोग का रिश्ता बहाल करेंगे। इससे दोनों देश सुरक्षित सागर के साझा लक्ष्यों को पूरा करने में योगदान करेंगे। भारतीय युद्धपोत का यह दौरा दूसरे देशों के साथ दोस्ती के पुल बनाने के उद्देश्यों से हो रहा है। इस पोत पर विभिन्न किस्म की शस्त्र प्रणालियां तैनात हैं जो युद्ध के तीनों आयाम में हरकत कर सकते हैं। इस तरह भारत और स्वीडेन एक दूसरे के साथ मिल कर समुद्री चुनौतियों का मिल कर मुकाबला करने को आपसी माहौल बेहतर कर रहे हैं।

INS तरकश की कमान कैप्टन सतीश वासुदेव के हाथों में है। यह पोत भारतीय नौसेना के पश्चिमी कमान का हिस्सा है । गौरतलब है कि भारतीय नौसेना स्वीडेन के साथ मिल कर समुद्री डाकाजनी से निबटने में वैश्विक प्रयासों में अपना योगदान दे रहे हैं। दोनों नौसेनाओं के बीच हाल में कई उच्चस्तरीय दौरे हाल में हुए हैं।

Comments

Most Popular

To Top