Navy

कुलभूषण जाधव परिवार के साथ है Navy : एडमिरल लांबा

नौसेना

नई दिल्ली। भारतीय नौसेना (Indian Navy) अपने सेवानिवृत्त अधिकारी कुलभूषण जाधव तथा उनके परिवार की हर संभव मदद करेगी। नौसेना प्रमुख एडमिरल सुनील लांबा ने कहा कि भारत सरकार और भारतीय नौसेना पाकिस्तान में मौत की सजा का सामना कर रहे जाधव के परिवार के साथ है और उसकी वापसी के हरसम्भव प्रयास सरकार द्वारा किये जा रहे हैं।





  • एडमिरल लांबा ने यहां संवाददाता सम्मेलन के दौरान गुरुवार को कहा, ‘हम कुलभूषण तथा उनके परिवार की जो भी जरूरत है उसे हर हाल में पूरा करेंगे। सरकार उनकी रिहाई के लिए हर संभव प्रयास कर रही है।’

दरअसल पाकिस्तान में झूठे आरोप में भारतीय नागरिक जाधव को मौत की सजा सुनाई जाने के खिलाफ भारत ने आईसीजे में अपील की थी। इस पर सुनवाई करते हुए अंतर्राष्ट्रीय अदालत ने फैसला आने तक जाधव की फांसी पर रोक लगा दी थी।

इस बीच इंटरनेशनल कोर्ट आफ जस्टिस (ICJ) में 8 जून को भारतीय नागरिक और पूर्व नौसेना अधिकारी कुलभूषण जाधव के मामले की सुनवाई होनी है। पाकिस्तान आज ICJ में तदर्थ जज की नियुक्ति के लिए तीन नाम पेश करेगा। ये नाम हैं पाकिस्तान के पूर्व मुख्य न्यायाधीश नसीरुल मुल्क, तसादक हुसैन जिलानी और पूर्व अटार्नी जनरल मकदूम अली।

  • 12 सदस्यीय ट्रिब्यूनल में भारतीय जज दलवीर भंडारी सदस्य हैं। ICJ पाकिस्तान की सैन्य अदालत से कुलभूषण की फांसी की सजा के खिलाफ भारत की याचिका पर सुनवाई कर रहा है।

18 मई को कुलभूषण जाधव मामले में पाकिस्तान को इंटरनेशनल कोर्ट ऑफ जस्टिस (ICJ) में करारी हार का सामना करना पड़ा था। ICJ ने भारत के पक्ष में फैसला सुनाया था। अदालत ने कहा था, ‘जब तक उनके मामले में अंतिम फैसला नहीं आ जाता उन्हें फांसी नहीं दी जा सकती। यह भी स्पष्ट कर दिया था कि बिना उसकी अनुमति के पाकिस्तान कोई कार्रवाई न करे।’ ICJ के चीफ जस्टिस रोनी अब्राहम ने फैसला सार्वजनिक रूप से पढ़कर सुनाया था।

Comments

Most Popular

To Top