Forces

57 लड़ाकू विमान INS विक्रमादित्य पर होंगे तैनात, ट्रायल में कई कंपनियां होड़ में

INS-विक्रमादित्य-युद्धपोत

नई दिल्ली। आईएनएस विक्रमादित्य पर 57 फाइटर प्लेन तैनात होंगे। लड़ाकू विमान होंगे भी ऐसे कि इशारा मिलते ही पल भर में दुश्मन को ढेर कर दें। फिलहाल आईएनएस विक्रमादित्य पर 26 MIG 29-K और 10 कामोव KA-31 हेलिकॉप्टर तैनात हैं। दरअसल भारतीय नौसेना की योजना अगले तीन वर्षों में आईएनएस विक्रमादित्य पर लड़ाकू विमान तैनात करने की है। इसके लिए भारतीय नौसेना ने राफेल, साब-सी ग्रिफेन और F- 18 जैसे लड़ाकू विमान बनाने वाली कंपनियों को आमंत्रित कर अपने विमानों की खूबियां दिखाने के लिए कहा है। नौसेना ने उन्हें कहा है कि वे बताएं कि आईएनएस विक्रमादित्य उनके लड़ाकू विमानों की तैनाती पर क्यों हो ?





कर्नाटक के करवार में ट्रायल 

इन फाइटर जेट्स को नौसेना ने ट्रायल देने के लिए करवार बुलाया है। करवार (कर्नाटक) आईएनएस विक्रमादित्य का होमबेस है।

फाइटर प्लेन्स के लिए होनी है 75,000 करोड़ की डील

भारतीय नौसेना ने इन विमानों की खरीददारी के लिए 75,000 करोड़ रुपये रखे हैं। डील के लिए कुछ कुछ शर्ते भी हैं। मसलन विमान भारत में ही बनें, अधिक से अधिक तकनीक ट्रांसफर और कल-पुर्जों की सप्लाई के साथ ही 3 साल में इनकी तैनाती भी हो।

डबल सीटर लाइट कॉम्बैट लड़ाकू विमानों की है जरूरत

आईएनएस विक्रमादित्य पर रुसी मिग 29-K  विमान तैनात हैं।  पर इनके इंजनों तकनीकी खामियों की वजह से नौसेना परेशान है। नौसेना ने अब डबल सीटर लाइट कॉम्बैट लड़ाकू विमान खरीदने के लिए पश्चिमी देशों की कंपनियों को ट्रायल के लिए बुलाया है।

Comments

Most Popular

To Top