Forces

इसलिए नायाब है नौसेना, पढ़िए ये 8 ख़ास बातें

नई दिल्ली: भारतीय नौसेना (Indian Navy) देश के सशस्त्र बलों का एक महत्वपूर्ण अंग है लेकिन क्या आप इसका इतिहास जानते हैं? हो सकता है कि आप जानते हों लेकिन आज जो हम आपको बताने जा रहे हैं वह बिल्कुल ही अलग है। अगर आपको लगता है कि भारतीय नौसेना आजादी के बाद से सक्रिय है और उससे पहले भारत के लिए नहीं काम करती थी तो आप गलत हैं। दरअसल, भारतीय नौसेना छत्रपति शिवाजी के शासनकाल से ही भारत में है। उन्होंने ही सबसे पहले नौसेना की स्थापना की थी जो समुद्री क्षेत्रों में सुरक्षा का काम करती थी। आइए, हम आपको बताते हैं कि भारतीय नौसेना से जुड़ी ऐसी रोचक बातें जो शायद आप नहीं जानते हों…





ये हैं भारतीय नौसेना के जनक

छत्रपति शिवाजी महाराज (प्रतीकात्मक चित्र)

छत्रपति शिवाजी राव भोसले को भारतीय नौसेना का जनक माना जा सकता है। उन्होंने कोंकण के समुद्र तल और गोवा के व्यापार को सुरक्षित करने के लिए नौसेना का मजबूत तंत्र बनाया था।

 

रायल इंडियन नेवी बनी इंडियन नेवी

नौसेना

रायल इंडियन नेवी के सैनिक (फाइल फोटो)

ब्रटिश शासन के दौरान बनाई रायल इंडियन नेवी को 26 जनवरी 1950 को मौजूदा नाम इंडियन नेवी और स्वरूप दिया गया। भारतीय नौसेना का पहला बड़ा अभियान 1961 में गोवा की आजादी के लिए पुर्तगालियों के खिलाफ छेड़ा गया था।

नौसेना का पहला विमान वाहक

नौसेना

आईएनएस विराट (फाइल फोटो)

आईएनएस विराट भारतीय नौसेना का पहला विमान वाहक और दुनिया का सबसे पुराना विमानवाहक रहा। वहीं आईएनएस विक्रांत भारत का बना पहला विमान वाहक था।

यूं है दुनिया की दूसरी नौसेना

नौसेना

नौसेना का एयरोबेटिक दल

दुनिया की सिर्फ दो नौसेनाओं के पास ही एयरोबेटिक दल है और उनमें से एक भारतीय नौसेना है। इसे सागर पवन के नाम से जाना जाता है।

नेवी के मार्कोस

नौसेना

मरीन कमांडोज (फाइल फोटो)

नेवी के मार्कोस (Marine Commandos) की गिनती दुनिया के सबसे खतरनाक कमांडो दस्तों में होती है। इसके अभियान बेहद गुप्त होते हैं और कमांडो दाढ़ी रखते हैं इसलिए इनका नाम ‘दाढ़ी वाले फौजी’ के तौर पर भी लिया जाता है।

पहली नौसेना

भारतीय नौसेना

एवरेस्ट की चोटी पर गोताखोर दल

एवरेस्ट की चोटी पर गोताखोर दल को भेजने वाली इंडियन नेवी दुनिया की पहली नौसेना है।

एशिया की सबसे बड़ी अकादमी

नौसेना

एझीमला नेवल अकादमी

केरल की एझीमला नेवल अकादमी एशिया की सबसे बड़ी नेवल अकादमी है।

150 समुद्री जहाज

नौसेना

आईएनएस विक्रांत और आईएनएस विराट (फाइल फोटो)

भारतीय नौसेना के बेड़े में 2027 तक 150 समुद्री जहाज शामिल होने की उम्मीद है।

Comments

Most Popular

To Top