Navy

भारतीय नौसेना के लिये 8 पनडुब्बी नाशक पोत का आर्डर

एंटी सबमरीन वारफेयर

नई दिल्ली। नौसेना के लिये पनडुब्बी नाशक पोत एंटी सबमरीन वारफेयर शैलो वाटर क्राफ्ट देश में ही बनाए जाएंगे। ऐसे आठ पोतों के  निर्माण का आर्डर रक्षा मंत्रालय ने कोलकाता स्थित गार्डन रीच शिपबिल्डर्स एंड इंजीनियर्स लि( जीआरएसई) को दिया है। इन पोतों के निर्माण पर 6,311 करोड़ रुपये की लागत आएगी।





इन पोतों के लिये टेंडर अप्रैल, 2014 में जारी किया गया था। सौदा सम्पन्न होने के 42 महीने बाद पहले पोत को नौसेना को सौंपा जा सकेगा। इसके बाद हर साल दो पोत बनाए जाएंगे। प्रोजेक्ट पूरा करने का कुल 84 महीनों का वक्त तय किया गया है। गौरतलब है कि जीआरएसई इन दिनों नौसेना के लिये स्टील्थ फ्रिगेट, एंटी सबमरीन वारफेयर कार्बेट फास्ट पेट्रोल बोट, सर्वे वेसेल आदि का निर्माण कर रही है। जीआरएसई भारतीय नौसेना के लिये अब तक 100 से अधिक युद्धपोतों का निर्माण कर चुकी है। इस तरह इस नौसैनिक गोदी ने ‘मेक इन इंडिया’ में अपना असाधारण योगदान दिया है।

पनडुब्बी नाशक पोतों को नौसेना को सौंपे जाने के बाद भारतीय नौसेना की पनडुब्बी नाशक क्षमता में भारी इजाफा होगा।

Comments

Most Popular

To Top