Forces

VIDEO: नौसेना ने राहत और बचाव कार्य के लिए केरल में पोत और वायुयान तैनात किए

केरल में ओखी तूफान

चेन्नई। ‘ओखी’ चक्रवात के कारण तमिलनाडु और केरल के दक्षिणी जिलों में भारी बारिश से वहां जनजीवन लगभग ठप हो गया है। भारी बारिश के कारण आठ लोगों की मौत की खबर है। केरल के तटीय इलाकों से कई मछुआरों और छह नौकाओं के लापता होने की खबर है। राहत और बचाव कार्यों को तेज करते हुए भारतीय नौसेना ने 7 और कोस्टगार्ड ने 2 युद्धपोत तैनात किए हैं।





तिरुवनंतपुरम के जिला कलेक्टर से खोज एवं राहत के लिए सहायता का आग्रह प्राप्त होने के आधार पर दक्षिणी नौसेना कमान ने आईएनएस शार्दुल, निरीक्षक, काबरा एवं कालपेनी तथा कोच्चि में स्थित दो वायुयानों को तैनात किया है।

ये जहाज और वायुयान इस क्षेत्र में खोज एवं राहत (एसएआर) संचालन का कार्य करेंगे तथा इस तूफान के इस तट से गुजर जाने तक नागरिक प्रशासन की आवश्यकता के अनुसार किसी भी सहायता के लिए समुद्र में इनका संचालन जारी रखेंगे। दक्षिणी नौसेना कमान किसी भी मानवीय सहायता तथा आपदा राहत (एचएडीआर) के लिए भी तैयार रहेगी जिसकी आवश्यकता केरल के दक्षिणी हिस्से में तूफान के प्रभावों की वजह से पड़ सकती है।

मौसम विभाग के मुताबिक चक्रवात ओखी 140 किलोमीटपर प्रतिघंटा की रफ्तार से लक्ष्यद्वीप और मिनिक्यो की तरफ बढ़ रहा है।

रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमन ने कोस्ट गार्ड वेस्ट के रीजनल कमांडर नौटियाल से बातचीत की है। खबरों के मुताबिक तमिलनडु 4 मछुआरे नौका समेत लापता हैं। वहीं केरल में 38 मछुआरे अपनी 13 नौकाओं के साथ लापता हैं। नौसेना ने खोज और बचाव कार्य में तेजी लाते हुए पोत और वायुयान तैनात कर दिए हैं।

 

Comments

Most Popular

To Top