Anya Smachar

ऐसे होंगे एनएसजी के ‘फ्यूचर सोल्जर्स’

एनएसजी

सैनिकों के जैकेट और उसमें लगाए जाने वाले अन्य डिवाइस(प्रोटोटाइप) को अंतिम रूप देने के लिए नेशनल सिक्योरिटी गार्ड (NSG) ने डीआरडीओ और आईआईटी मुंबई से कॉन्टैक्ट किया है।

सैनिकों के जैकेट और उसमें लगाए जाने वाले अन्य डिवाइस (प्रोटोटाइप) को अंतिम रूप देने के लिए नेशनल सिक्योरिटी गार्ड (NSG)  ने डीआरडीओ और आईआईटी मुंबई से कॉन्टैक्ट किया है।





इससे पहले 2013 में एनएसजी के फ्यूचर सोल्जर प्रोग्राम को स्थगित कर दिया गया था। अमेरिका, इंग्लैंड, फ्रांस, जर्मनी, रूस और इजरायल सहित दुनिया के करीब 40 देश ऐसे ही प्रोग्राम पर काम कर रहे हैं ताकि विभिन्न और असामान्य स्थितियों में भी सैनिक सुरक्षा दे सकें। हालांकि, इस पर पश्चिम के देश पहले ही तैयारी कर चुके हैं, भारत 2025 तक इस प्लान को पूरा करेगा।

कैसा होगा एनएसजी फ्यूचर सोल्जर:

  • सेटेलाइट इमेजरी तकनीक से लैस डिवाइस
  • रियल टाइम पोजिशनिंग सिस्टम के साथ हेलमेट
  • इंटीग्रेटेड स्मार्ट वीपन्स
  • खास मैटेरियल से बना हल्का जैकेट और हथियार
  • सुपर कम्युनिकेशन नेटवर्क और इंटीग्रेटेड कंप्यूटर

NSG के निदेशक ने कहा कि हम फ्यूचर सोल्जर प्रोजेक्ट पर काम कर रहे हैं। लेकिन उन्होंने अधिक जानकारी देने से मना कर दिया। 2011 में मुंबई हमले के बाद भारत इलेक्ट्रॉनिक लिमिटेड को प्रोजेक्ट सौंपा गया था, लेकिन 30 सैनिकों के ऊपर 12-13 करोड़ रुपये खर्च आने की वजह से इसे आगे नहीं बढ़ाया गया। 

एनएसजी के पूर्व निदेशक ने कहा कि यह बहुत जरूरी है कि अपने देश में ही इसे तैयार किया जाए, क्योंकि कोई भी दूसरा देश अपना सीक्रेट प्लान शेयर नहीं करता।

Comments

Most Popular

To Top