NSG

राष्ट्रीय सुरक्षा गार्ड (NSG)

एनएसजी

राष्ट्रीय सुरक्षा गार्ड (NSG) भारतीय स्पेशल फोर्स की एक विशेष यूनिट है जो गृह मंत्रालय के तहत अपना काम करती है।

गठन- 1984





राष्ट्रीय सुरक्षा गार्ड में सैनिकों की संख्या- 7,500

सिद्धांत- सर्वत्र सर्वोत्तम सुरक्षा

हेडक्वार्टर- नई दिल्ली

राष्ट्रीय सुरक्षा गार्ड (NSG) भारतीय स्पेशल फोर्स की एक विशेष यूनिट है जो गृह मंत्रालय के तहत अपना काम करती है। यह राज्यों की आंतरिक गड़बड़ियों के खिलाफ और राज्यों की सुरक्षा को देखते हुए गठन किया गया था। ऑपरेशन ब्लू स्टार और इंदिरा गांधी की हत्या के बाद राज्यों में दंगा कंट्रोल करने में भी इसकी मदद ली गई थी। 1986 में पंजाब के गोल्डन टेंपल में ‘ऑपरेशन ब्लैक थंडर’ में एनएसजी का अहम योगदान था।

एनएसजी कर्मियों को काले रंग की पोशाक के चलते उन्हें अकसर ‘ब्लैक कैट’ भी कहा जाता है। राष्ट्रीय सुरक्षा गार्ड की कमान ‘डायरेक्टर जनरल’ के पास होती है।

NSG के गठन को करीब 33 साल हो गए हैं। इस दौरान 28 डीजी रहे। एक डीजी का औसत कार्यकाल एक वर्ष कुछ माह का ही रहा है। यहाँ यह बताना बेहद जरूरी है कि NSG का इस्तेमाल वीआईपी की सुरक्षा के अलावा बड़े ऑपरेशंस को अंजाम देने में भी किया जाता है लेकिन विडंबना यह कि इस सर्वोत्कृष्ट सुरक्षा एजेंसी का मुखिया आईपीएस अधिकारी ही होता है जिसके पास विशेष बलों को कमांड करने का कोई अनुभव नहीं होता। सरकारी नियम के मुताबिक़ NSG का मुखिया IPS अफसर ही होगा। 

Comments

Most Popular

To Top