NSG

एनएसजी के ब्लैक कैट कमांडो अब नहीं दिखेंगे VIP सुरक्षा में

एनएसजी
फाइल फोटो

नई दिल्ली। अब वीआईपी सुरक्षा से राष्ट्रीय सुरक्षा गार्ड (NSG) कवर को हटाने का फैसला लिया गया है। इस काम से अब उन्हें दूर रखा जाएगा। गौरतलब है कि इससे पहले भी केंद्रीय गृहमंत्रालय सोनिया गांधी और राहुल गांधी की एसपीजी सुरक्षा हटाने के साथ-साथ कई बड़े राजनेताओं की सुरक्षा घटा चुका है।





एनएसजी के एक अधिकारी के मुताबिक इस फैसले के बाद अब एनएसजी के करीब 450 कमांडोज वीआईपी सुरक्षा देने से मुक्त हो जाएंगे और उन्हें बल के मूल काम पर लगाया जा सकेगा। सरकार की योजना के मुताबिक वीआईपी सुरक्षा की जिम्मेदारी सीआईएसएफ और सीआरपीएफ जैसे अर्धसैनिक बलों को दी जा सकती है।

मीडिया खबरों के मुताबिक करीब दो दशक बाद ऐसा होगा जब एनएसजी के ब्लैक कैट कमांडोज को अतिविशिष्ट लोगों की सुरक्षा से दूर रखा जाएगा। सन् 1984 के दंगों के बाद जब एनएसजी का गठन हुआ था तब वीआईपी की सुरक्षा इस बल की जिम्मेदारियों में शामिल नहीं थी।

बता दें कि आधुनिक हथियारों से लैस ये खास सुरक्षा दस्ता वीआईपी लोगों को सुरक्षा कवर देता है। फिलहाल यह सुरक्षा कवर जेड प्लस सुरक्षा प्राप्त अति विशिष्ट लोगों को मिला हुआ है। ऐसे हर वीआईपी की सुरक्षा में करीब दो दर्जन कमांडो तैनात रहते हैं।

मीडिया खबरों के मुताबिक केंद्रीय रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह और उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की सुरक्षा में तैनात एनएसजी का स्थान अब अर्ध सैनिक बल लेंगे। इन राजनेताओं के अलावा पूर्व मुख्यमंत्री मायावती, मुलायम सिंह यादव, चंद्रबाबू नायडू, प्रकाश सिंह बादल, फारूक अब्दुल्ला को भी एनएसजी सुरक्षा मिला हुआ है। अलावा इसके असम के मुख्यमंत्री सरवानंद सोनोवाल और पूर्व उपप्रधानमंत्री लाल कृष्ण आडवाणी को भी एनएसजी सुरक्षा मिली हुई है।

Comments

Most Popular

To Top