Army

इंडियन आर्मी के मेजर जनरल डोगरा इसलिए हैं दुनिया के एकमात्र ‘लौहपुरुष’

पत्नी के साथ मेजर जनरल डोगरा

कोई शख्स अगर पहले 3.8 किलोमीटर की दूरी तैरकर कर पूरी करे, उसके बाद 180 किलोमीटर की दूरी साइकिल से तय करे और फिर उसके बाद 42.2 किलोमीटर दौड़े। और वह भी एक ही दिन में एक के बाद एक तो उसे ‘लौहपुरुष’ न मानने की गुंजाइश ही कहां बचती है। जी, हां यह कारनामा करने वाला कोई और नहीं अपने मेजर जनरल वीडी डोगरा हैं। बीते रविवार को आस्ट्रिया में ‘Ironman’ स्पर्धा में अपनी असाधारण क्षमता का लोहा मनवाने वाले मेजर जनरल वीडी डोगरा पहले सेवारत भारतीय सेना के अधिकारी और दुनिया के एकमात्र मेजर जनरल हैं। दुनिया की सबसे कठिन माने-जाने वाली स्पर्धाओं में से एक इस ट्राइथलन (तीन अलग-अलग खेलों की प्रतियोगिता) ‘Ironman’ को 17 घंटे के अंदर पूरा करना होता है। लेकिन मेजर जनरल वीडी डोगरा ने तैराकी, साइकिलिंग और मैराथन की दूरी को महज 14 घंटे 21 मिनट में ही नाप डाला। बता दें कि इस स्पर्धा में दुनियाभर से 3,000 प्रतियोगी अपना दमखम आजमाने आए थे और उनमें अव्वल साबित हुए मेजर जनरल वीडी डोगरा।





मेजर जनरल डोगरा

एक अंग्रेजी अखबार में प्रकाशित खबर के अनुसार मेजर जनरल वीडी डोगरा शुरू से उत्साही खिलाड़ी रहे हैं। इस तरह के कारनामे करना उनके लिए नई बात नहीं है। सेना के एक अधिकारी के मुताबिक पांच वर्ष पहले उन्होंने साइकिलिंग करने की ठानी। और कुछ ही समय बाद वह लेह से चंडीगढ़ (800 किलोमीटर की दूरी) साइकिल से जा पहुंचे और वह भी सिर्फ 8 दिन में। वह कई ट्राइथलन में हिस्सा ले चुके हैं।

मेजर जनरल डोगरा

दिसंबर 1981 के बैच में स्वोर्ड ऑफ स्वर्ण पदक विजेता रहे मेजर जनरल डोगरा को पूना हॉर्स (सशस्त्र वाहिनी) में कमीशन मिला। बाद में वे सेनी की इसी इकाई के कमांडर बने। मेजर जनरल डोगरा पाकिस्तान की सीमा से लगने वाले पश्चिमी मोर्चे पर तैनात आर्मर्ड ब्रिगेड और स्ट्राइक कॉर्प्स की इन्फेंट्री डिवीजन की अगुवाई भी कर चुके हैं। वर्तमान में वह सेना की पुनर्वास इकाई के महानिदेशक हैं।

Comments

Most Popular

To Top