Army

मालदीव के विशेष आर्थिक क्षेत्र (ईईजेड) की संयुक्त निगरानी

नई दिल्ली। भारतीय नौसेना का अपतटीय निगरानी पोत (एनओपीवी) सुमेधा को 9 से 17 मई, 2018 तक मालदीव के ईईजेड की संयुक्त निगरानी के लिए तैनात किया गया है। यह तैनाती नौसेना के मिशन आधारित तैनाती के हिस्से के रूप में की गई है। यह निगरानी पोत 11 से 12 मई, 2018 तक माले का संचालन भ्रमण (Operational Turnaround (OTR)) करेगा जिसके दौरान यह पोत मालदीव के राष्ट्रीय रक्षा बलों (एमएनडीएफ) के कर्मियों को प्रशिक्षित करेगा। सुमेधा एमएनडीएफ कर्मियों के साथ 12 से 15 मई, 2018 तक मालदीव के ईईजेड की संयुक्त निगरानी करेगा। एमएनडीएफ कर्मी ईईजेड निगरानी पूरी होने पर माले में पोत से उतर जायेंगे।





दो अधिकारी और भारतीय नौसेना के मरीन कमांडों (एमएआरसीओ) कैडर के 8 नाविक मालदीव में दूसरा विषम युद्ध प्रशिक्षण अभ्यास (एकता 2018) संचालित कर रहे हैं। यह अभ्यास माले से 145 किलोमीटर उत्तर में कंपोजिट ट्रेनिंग सेंटर, माफिलहाफुशी में किया जा रहा है। अभ्यास के दौरान एमएनडीएफ कर्मियों को गोताखोरी उपकरणों के इस्तेमाल और रख-रखाव, चिकित्सा आपात सहित गोताखोरी से संबंधित विभिन्न पहलुओं पर प्रशिक्षण दिया जा रहा है। मालदीव में भारत के राजदूत ने भी 6 और 7 मई, 2018 को प्रशिक्षण अभ्यास देखा। भारतीय नौसेना का सुमेधा पोत 15 मई, 2018 को माले में भारतीय नौसेना के मार्को प्रशिक्षण दल को अलग करेगा।

मालदीव ईईजेड की संयुक्त निगरानी द्वीप देश मालदीव के विशाल विशेष आर्थिक क्षेत्र की सुरक्षा करने के लिए भारत सरकार और भारतीय नौसेना का प्रयास है।

Comments

Most Popular

To Top