Forces

J&K: आतंकवाद को जड़ से मिटाने के लिए रोडमैप तैयार, आरआर का मुख्यालय होगा शिफ्ट

राष्ट्रीय राइफल्स
फाइल फोटो

जम्मू। जम्मू-कश्मीर में आतंक का फन कुचला जा चुका है। केंद्र सरकार की पूरी तैयारी है कि सूबे में आतंक और आतंकवादियों का नामों-निशान न रहे। लिहाजा आक्रामक और निर्णायक प्रहार के मद्देनजर पूरी योजना बनकर तैयार है। इसके मद्देनजर राष्ट्रीय राइफल्स का मुख्यालय दिल्ली से ऊधमपुर स्थानांतरित करने की तैयारी चल रही है।





सूत्रों के मुताबिक घाटी में सेना और सुरक्षाबलों को एक साल के भीतर आतंकवाद के खात्मे का लक्ष्य दिया गया है। राज्य में घुसपैठ को खत्म करने और आतंकवाद को जड़ से मिटाने के लिए सेना ने अफसरों की संख्या में 20 फीसदी बढ़ोत्तरी करने का निर्णय लिया है। अलावा इसके सेना के मिलिट्री इंटेलिजेंस, ऑपरेशन तथा इंफॉर्मेशन वारफेयर के लिए भी डिप्टी चीफ का एक पद सृजित किया जा रहा है।

सूत्र बताते हैं कि केंद्र सरकार ने दिल्ली में सेना मुख्यालय में तैनात 229 अफसरों को विभिन्न जिम्मेदारियों के साथ जम्मू-कश्मीर भेजने की तैयारी कर रही है। उन्हें नियंत्रण रेखा और आतंकवादग्रस्त इलाको में तैनात किया जाएगा।

गौरतलब है कि आतंकवादियों के लिए काल बनी सेना की उत्तरी कमान का मुख्यालय ऊधमपुर में है। आर्मी कमांडर ऊधमपुर से ही आतंकविरोधी अभियानों को संचालित करते हैं। ऐसे में अब राष्ट्रीय राइफल्स का मुख्यालय भी ऊधमपुर से काम करेगा।

इस समय जम्मू-कश्मीर में राष्ट्रीय राइफल्स की रोमियो फोर्स राजौरी- पुंछ, डेल्टा फोर्स डोडा, किलो फोर्स कुपवाड़ा, विक्टर फोर्स कश्मीर में आतंकवाद को खत्म कर रही है। इन्हें दिल्ली से राष्ट्रीय राइफल्स के डायरेक्टर जनरल संचालित करते हैं।

Comments

Most Popular

To Top