Forces

दुनिया का चक्कर लगाकर स्वदेश लौटी टीम ‘INSV तारिणी’, रक्षा मंत्री ने की अगवानी

स्वदेशी और आधुनिक नौका ‘आईएनएसवी तारिणी’ पर सवार होकर दुनिया का चक्कर लगाकर भारतीय नौसेना की छह महिला सदस्यों का दल सकुशल भारत लौट आया। देश की रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण ने गोवा में इस दल की अगवानी की। इस ऐतहासिक मौके पर दल के सभी सदस्यों का उन्होंने स्वागत किया इस अवसर पर नौसेना प्रमुख एडमिरल सुनील लांबा वाइस एडमिरल ए. आर. कर्वे,  दक्षिणी नौसेना कई वरिष्ठ नौसेना अधिकारी मौजूद थे। गौरतलब है कि रक्षा मंत्री सीतारमण ने ही 10 सितंबर 2017  को ‘INSV तारिणी’  के महिला दल को गोवा से रवाना किया था।





हालांकि नाविका सागर परिक्रमा के मिशन को  पूरा कर यह दल रविवार को गोवा पहुंच गया था, लेकिन आधिकारिक घोषणा के कारण दल को अपना पूरा दिन बोट में ही गुजारना पड़ा। उधर रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण ने अपने ट्विटर हेंडल पर ट्वीट किया था कि बेहद खुश व गौरवान्वित महसूस कर रही हूं।’

छोटी पाल नौका यानी सेलिंग बोट के ज़रिए समुद्र के रास्ते दुनिया का चक्कर लगाने निकला नौसेना की जांबाज महिला अफसरों के दल का नेतृत्व लेफ्टिनेंट कमांडर वर्तिका जोशी कर रहीं थीं। अभियान को ‘नाविका सागर परिक्रमा’ नाम दिया गया है। इस दल में लेफ्टिनेंट कमांडर प्रतिभा जामवाल, पी स्वाति, लेफ्टिनेंट ए विजया देवी, बी एश्वर्य तथा पायल गुप्ता भी शामिल हैं।

दल ने आस्ट्रेलिया के फ्रेमन्टाइल और न्यूजीलैंड के लेटिल्टन से पोर्ट स्टेनली और केपटाउन होते हुए अभियान पूरा किया। इस दल ने 41 दिन प्रशांत महासागर में बेहद कठिन मौसम में गुजारे। यह पहला मौका है जब नौसेना की महिला अधिकारियों ने समुद्र के रास्ते विश्व परिक्रमा पूरी करने का साहसिक कारनामा किया है।

Comments

Most Popular

To Top