Forces

भारतीय नौसेना को छह स्वदेशी पोत मिलेंगे

युद्धपोत
युद्धपोत (प्रतीकात्मक)

नई दिल्ली। रक्षा मंत्रालय ने भारतीय नौसेना के लिये छह नेक्सट जनरेशन आफशोर पेट्रोल वेसेल (NGOPV) खरीदने को मंजूरी दे दी है। देश में ही बनने वाले मौजूदा किस्म के अगली पीढ़ी के ये समुद्र तटीय गश्ती युद्धपोत आधुनिक सेंसरों से लैस होंगे, समुद्र में अधिक वक्त तक विचरण करने की क्षमता वाले होंगे, दुश्मन के रेडार की नजरों से बचने की क्षमता होगी और इसमें बेहतर संहारक क्षमता वाले हथियार तैनात होंगे।





इन युद्धपोतों को हासिल करने पर 4941 करोड़ रुपये की लागत आएगी। रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण की अध्यक्षता में रक्षा खरीद परिषद (डीएसी) की बैठक में मेड इन इंडिया को बढ़ावा देने वाला यह अहम फैसला लिया गया।

ये आधुनिक युद्धपोत स्वदेशी नौसैनिक गोदी में बनाए जाएंगे। इनसे भारतीय नौसेना की मारक क्षमता में भारी इजाफा होगा। ये पोत सुदूर सागर और तटीय इलाकों में भारत की समुद्री सुरक्षा को मजबूती प्रदान करने में सक्षम होंगे। इन पोतों की मदद से समुद्री संसाधनों की रक्षा करने में मदद मिलेगी, किसी हमलावर युद्धपोत को बीच रास्ते में रोकने में मदद मिलेगी, किसी संदिग्ध जहाज का औचक निरीक्षण करने में मदद मिलेगी, समुद्री इलाके में घुसपैठ के खिलाफ कार्रवाई करने में मदद मिलेगी, सुदूर समुद्री इलाके में टोही भूमिका में तैनात होकर दुश्मन के लिये विनाशक साबित होगा औऱ मानवीय सहायता और राहत कार्यों में मदद मिलेगी।

 

Comments

Most Popular

To Top