Army

सेना को जल्द मिल सकता है वह हथियार जिससे मारा गया था आतंकी लादेन

M4 A1 Carbine

नई दिल्ली। अमेरिकी सेना ने आतंकी ओसामा बिन लादेन को मारने के लिए पाकिस्तान में घुसकर जिस आधुनिक लेजर गाइडेड M 4 A-1 कार्बाइन का प्रयोग किया था उसी कार्बाइन से भारतीय सेना के जांबाज मलेशिया के घने जंगलों में अचूक निशाना साधेंगे। एक अखबार के मुताबिक माना जा रहा है कि जल्द ही यह लेटेस्ट ‘कार्बाइन’ भारतीय सेना को मिल सकता है। यह लेटेस्ट और मारक कार्बाइन भारतीय सेना के पास अभी उपलब्ध नहीं है।





गौरतलब है कि 30 अप्रैल से 13 मई तक चलने वाला संयुक्त युद्धाभ्यास दो चरणों में पूरा किया जाएगा। पहले चरण चरण में क्रास ट्रेनिंग होगॉ, जबकि दूसरे चरण में फील्ड ट्रेनिंग होगी। मलेशिया की एक रॉयल रेंजर रेजीमेंट के 113 जवान इस युद्धाभ्यास में हिस्सा लेंगे। इस रेजीमेंट को जंगल वारफेयर में महारत हासिल है। दोनों देशों की आर्मी घात लगाकर दुश्मनों को ढूंढ़ना और उनको खत्म करना, शिविरों पर हमला, जंगल में बिना किसी खानपान की सामाग्री के जीवित रहकर ऑपरेशन पूरा करने, सचनाओं को एकत्र करना और विस्फोटकों को हैंडल करने का प्रदर्शन करेंगी। मध्य कमान के अन्तर्गत स्थापित एक ग्रेनेडियर्स रेजीमेंट से इस यूनिट को युद्धाभ्यास के लिए प्रारंभिक रूप से तैयार किया जा रहा है।

लेजर गाइडेड M 4 A-1 कार्बाइन की खासियतें

ज्ञात हो कि रात के वक्त अपने निशाने को साधकर 600 मीटर की दूरी तक उसे नेस्तानाबूत करने में सहायक लेजर गाइडेड तकनीक वाली यह कार्बाइन 700 से लेकर 950 राउंड प्रति मिनट की तेजी से गोलियां बरसा सकती है। मलेशिया में पहली बार होने वाले ज्वाइंट एक्सरसाइज हरीमऊ शक्ति- 2018 के लिए 4 ग्रेनेडियर्स को चुना गया है।

 

Comments

Most Popular

To Top