Army

RIMPAC सैन्य अभ्यास में भारत समेत 26 देश लेंगे भाग, चीन को न्योता नहीं

वाशिंगटन। दुनिया के सबसे बड़े समुद्री सैन्य अभ्यास रिम ऑफ पसिफिक (RIMPAC) में इस वर्ष भारत सहित कुल 26 देश भाग लेंगे। हर दो वर्ष में होने वाला यह अभ्यास इस बार अमेरिका के हवाई द्वीप और दक्षिण कैलिफोर्निया के निकट 27 जून को शुरू होगा और 2 अगस्त तक चलेगा। मीडिया खबरों के मुताबिक इस बार अमेरिका ने इस अभ्यास के लिए चीन को न्योता नहीं दिया है। चीन ने अमेरिका के इस कदम की आलोचना करते हुए इसे दुर्भाग्यपूर्ण बताया है।





पेंटागन ने इस सैन्य अभ्यास की गुरुवार को घोषणा की। इस बार के सैन्य अभ्यास की खास बात यह है कि ब्राजील, इजरायल, श्रीलंका और वियतनाम पहली बार RIMPAC का हिस्सा बन रहे हैं। इस वर्ष इस सैन्य अभ्यास में 47 पोत, पांच पनडुब्बियां, 18 राष्ट्रीय थल सेना, 200 से ज्यादा विमान और करीब 25,000 सैनिक भाग लेंगे।

RIMPAC-2018 में हिस्सा लेने वाली सेनाओं के मुख्य अधिकारी

भारत सहित कुल 26 देश अमेरिका के हवाई द्वीप और दक्षिण कैलिफॉर्निया के पास 27 जून से 2 अगस्त तक होने वाले रिम ऑफ पसिफिक (रिमपैक) सैन्य अभ्यास में भाग लेंगे। पेंटागन ने दुनिया के सबसे बड़े समुद्री सैन्य अभ्यास की गुरुवार को घोषणा की है। दो साल में एक बार आयोजित होने वाले रिमपैक अभ्यास में इस साल 47 पोत, पांच पनडुब्बियां, 18 राष्ट्रीय थल सेना, 200 से ज्यादा विमान और 25,000 सैनिक भाग लेंगे।

MC2 Ortiz (दाएं) जिनके लोगो को RIMPAC-2018 के आधिकारिक लोगो के रूप में चुना गया है।

अभ्यास की घोषणा से पहले अमेरिका ने रिमपैक-2018 के लिए चीन को न्योता नहीं भेजा है। इस कदम को चीन ने दुर्भाग्यपूर्ण बताया है। अमेरिका के थर्ड फ्लीट पब्लिक अफेयर्स की ओर से जारी विज्ञप्ति के मुताबिक, ब्राजील, इजरायल, श्री लंका और वियतनाम पहली बार रिमपैक में हिस्सा ले रहे हैं। आस्ट्रेलिया, ब्रुनेई, कनाडा, चिली, कोलंबिया, फ्रांस, जर्मनी, इंडोनेशिया, जापान, मलयेशिया, मैक्सिको, नीदरलैंड, न्यूजीलैंड, पेरू, दक्षिण कोरिया, फिलीपीं, सिंगापुर, थाइलैंड, टोंगा और ब्रिटेन भी इस अभ्यास में भाग लेंगे। इस वर्ष की थीम रखी गई है Capable, Adaptive, Partners (सक्षम, अनुकूल, भागीदार)। RIMPAC अभ्यास की शुरुआत 1971 में हुई थी।

Comments

Most Popular

To Top