Forces

शहीदों के परिवार को गोद लेने आगे आए IAS अधिकारी

शहीद

मुंबई। माओवादियों व आतंकवादियों से लड़ते हुए शहीद हुए जवानों के परिवारों की मदद करने के लिए आईएएस (IAS) अधिकारियों ने हाथ बढ़ाया है। आईएएस अधिकारी शहीदों के परिवार को गोद लेंगे और आवश्यकतानुसार उनकी मदद करेंगे।





सैनिक, केंद्रीय सशस्त्र बल और राज्य पुलिस के शहीद हुए जवान के परिवारों को आईएएस अधिकारियों ने गोद लेने की योजना बनाई है। प्रत्येक अधिकारी एक परिवार को 5 से 10 वर्ष के लिए गोद लेगा। इंडियन सिविल एंड एडमिनिस्ट्रेटिव सर्विस (सेंट्रल) एसोसिएशन के सचिव संजय भुसरेड्डी ने इसकी पुष्टि करते हुए कहा है कि 2012 से 2015 के बीच के बैच वाले 600 से 700 अधिकारी, जिनकी जिस क्षेत्र में नियुक्ति हुई है, वे उसी क्षेत्र के एक-एक परिवार को गोद लेकर जवान के परिवार को संभालने का कार्य करेंगे।

एसोसिएशन के सचिव भुसरेड्डी ने आगे कहा कि आईएएस अधिकारियों को सीधे शहीद परिवार को मदद देने की जरूरत नहीं है। जिस परिवार को मदद की जरूरत होगी, उसे ही मदद दी जाएगी, जिससे उनके अंदर इस भावना का निर्माण हो कि जरूरत के समय देश उनके साथ खड़ा है।

Comments

Most Popular

To Top