Army

हिज्बुल का कमांडर मन्नान वानी मुठभेड़ में ढेर

आतंकी मन्नान वानी

श्रीनगर। जम्मू-कश्मीर में सुरक्षा बलों को उस वक्त बड़ी कामयाबी मिली जब एक मुठभेड़ के दौरान उसने दो आंतिकयों को मार गिराया। मारे गये आतंकियों में हिज्बुल मुजाहिदीन का कमांडर मन्नान वानी भी है। मन्नान वानी अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी (AMU) का पूर्व छात्र था। कुछ महीने पहले उसके गायब होने की खबर आई थी। बाद में जब यह पता लगा कि वह आतंकी संगठन हिज्बुल मुजाहिदीन में शामिल हो गया है तो AMU ने उसे निष्कासित कर दिया।





प्राप्त खबरों के मुताबिक सुरक्षा बलों को उसकी काफी दिनों से तलाश थी। सेना की मोस्ट वांटेड आतंकियों की सूची में मन्नान वानी का नाम भी था। मन्नान इस वर्ष के शुरू में AMU का PhD कोर्स छोड़कर हिज्बुल मुजाहिदीन में शामिल हो गया। हिज्बुल ने उसे कुपवाड़ा का कमांडर बना दिया था। गुरुवार की सुबह सेना को मन्नान के कुपवाड़ा के शाटगुंड इलाके में छिपे होने की सूचना मिली। राष्ट्रीय राइफल्स, पैरा स्पेशल फोर्स, एसओजी और सीआरपीएफ की संयुक्त टीम ने उस इलाके को घेर लिया और आतंकियों को आत्मसमर्पण करने के लिए कहा लेकिन आतंकियों ने सुरक्षा बल पर गोलियां बरसानी शुरू कर दीं। जवाब में सुरक्षा बलों के जवानों ने भी मोर्चा संभाल लिया। कई घंटे तक दोनों तरफ से गोलियां चलती रहीं। अंततः दोपहर तक दो आंतकियों को मार गिराया गया।

मुठभेड़ स्थल के आसपास इकट्ठा हुए लोगों ने सुरक्षा बलों पर पथराव किया। सुरक्षा बलों ने आसूं गैस के गोलों का इस्तेमाल कर उपद्रवियों को वहां से खदेड़ दिया। इलाके में तनाव को देखते हुए भारी संख्या में सुरक्षा बलों को तैनात कर दिया गया है। कुपवाड़ा जिले के स्कूल-कॉलेज बंद कर दिए गए हैं और इंटरनेट सेवाओं पर रोक लगा दी गई है।

 

Comments

Most Popular

To Top