DEFENCE

सबमरीन से सियाचीन तक सैनिकों को सरकार का न्यू ईयर गिफ्ट, सैनिक भत्तों में हुआ डबल इजाफा

सियाचीन पर भारतीय जवान

नई दिल्ली। केंद्र सरकार ने सैनिकों के भत्तों में डबल इजाफा कर उन्हें नए साल का तोहफा दिया है। भारतीय सेना के ऑफिसरों और सियाचीन ग्लैशियर जैसी ऊंची जगहों पर तैनात सैनिकों के भत्तों में दोगुनी बढ़ोत्तरी की है। जानकारों के मुताबिक सैन्य अफसरों और जूनियर कमीशंड अफसरों समेत सैनिकों का सियाचीन अलाउंस फिलहाल 21,000 और 14,000 रुपया है।





सियाचीन अलाउंस अब डबल कर 42,500 और 30,000 रुपये प्रतिमाह कर दिया गया है। सबमरीन अलाउंसेज में भी सरकार ने बड़ा फेरबदल किया है। अब तक यह रैंक के मुताबिक 13,500 रुपये से लेकर 21,000 रुपये तक था लेकिन सरकार ने इसे एक समान करते हुए सभी सबमरीन अफसरों के लिए 25,000 रुपये प्रतिमाह और अन्य कर्मियों के लिए 17,500 रुपये प्रतिमाह कर दिया है।

पनडुब्बी

मिशन पर नौसैनिकों का दुनिया से संपर्क ख़त्म हो जाता है

मालूम हो कि सियाचीन ग्लैशियर में सैनिकों को विपरीत मौसमों में ड्यूटी करनी होती है। हालांकि, अन्य ऊंचाई वाले जगहों पर भी ड्यूटी आसान नहीं होती। सरकार ने उन उंचे जगहों पर तैनात अधिकारियों को भत्ता भी मौजूदा दर 16,800 रुपये से बढ़ाकर 25,000 कर दिया है जबकि जेसीओ और अन्य जवानों के लिए 11,200 रुपये से बढ़ाकर 17,300 रुपये प्रतिमाह कर दिया है।

सर्जिकल स्ट्राइक जैसे हमलों को अंजाब देने वाले आर्म्ड फोर्सेज के कमांडोज और स्पेशल फोर्सेज जो हमेशा अपनी जान दांव पर लगाकर देश की रक्षा में जुटे होते हैं, सरकार ने उनके भक्तों में भी बढ़ोत्तरी की है। ऐसे कमांडोज और स्पेशल फोर्सेज के अधिकारी अब 25,000 रुपये और जेसीओ तथा अन्य सैनिक 17,300 रुपये प्रतिमाह मिलेंगे। पहले अधिकारियों को पद के अनुसार 13,500 से लेकर 21,000 रुपये तक मिलता था। सर्जिकल स्ट्राइक जैसे अटैक को अंजाम देने वाले आर्म्ड फोर्सज के कमांडोज के भत्ते में भी इजाफा किया गया है।

सर्जिकल स्ट्राइक करने वाले कमांडोज और स्पेशल फोर्सेज के अधिकारी अब 25,000 रुपये और JCO एवं अन्य सैनिक 17,300 रुपये प्रतिमाह पाएंगे। पहले अफसरों को पद के अनुसार 13,500 से लेकर 21,000 रुपये तक मिलता था। JCO को भी 12,600 रुपये प्रतिमाह मिलते थे।

Comments

Most Popular

To Top