Forces

सेना की पूर्वी कमान के अग्रिम क्षेत्रों का विदेश सेवा अताशे ने किया दौरा

विदेश सेवा अताशे

नई दिल्ली। मित्र देशों के नई दिल्‍ली स्थित दूतावासों में नियुक्‍त विदेश सेवा अताशे को भारतीय सशस्‍त्र बलों के तीनों अंगों से अवगत कराने के लिए उनका द्विवार्षिक दौरा आयोजित किया जाता है। इसके लिए दो दिन सेना, नौसेना और वायुसेना को समर्पित किए जाते हैं। इस साल का दौरा देश के पूर्वी भाग में 24 से 26 नवम्‍बर को आयोजित किया गया। इस दौरान उन्‍हें नौसेना के लिए विजाग, वायुसेना के लिए तेजपुर और अंत में सेना के लिए दिनजेन, असम ले जाया गया। 26 देशों के 29 अधि‍कारियों ने 28 नवम्‍बर को सेना की दाओ डिविजन का दौरा किया।





दाओ डिविजन के जनरल ऑफिसर कमांडिंग ने शिष्‍टमंडल की अगवानी की और उन्‍हें डिविजन के बारे में जानकारी दी। उसके बाद शिष्‍टमंडल के सदस्‍यों ने युद्ध स्‍मारक और विरासत संग्रहालय देखा। शिष्‍टमंडल को असम और अरुणाचल प्रदेश के सांस्‍कृतिक वैविध्‍य और क्षेत्र को जानने का भी अवसर मिला। शिष्‍टमंडल के लिए असम के सांस्‍कृतिक वैविध्‍य को दर्शाने वाला सांस्‍कृतिक कार्यक्रम भी आयोजित किया गया।

विदेशी अधिकारियों ने भारत के समृद्ध इति‍हास, संस्‍कृति और जैव-विविधता की सराहना की और उसे बरकरार रखने में भारतीय सेना की कोशिशों की तारीफ की।

Comments

Most Popular

To Top