Forces

अमरनाथ यात्रियों की सुरक्षा के लिए इस बार 27 हजार जवान

अमरनाथ यात्रा

जम्मू। अमरनाथ दर्शनों के लिए जम्मू कश्मीर से आने वाले यात्रियों की सुरक्षा में केन्द्र सरकार कोई कसर नहीं छोड़ना चाहती है। केन्द्र को 29 जून से शुरू होने वाली अमरनाथ यात्रा पर पत्थरबाजों और आतंकियों की आशंका है और इसलिए यात्रियों की सुरक्षा कड़ी करने के लिए 27 हजार जवानों को तैनात किया जा रहा है।





गृह मंत्रालय ने अमरनाथ यात्रियों की सुरक्षा के लिए चाक-चौबंद सुरक्षा योजना तैयार की है। इसका एक कारण पाकिस्तान की चौकियों को भारतीय सेना द्वारा नौशेरा में एलओसी के पास तबाह किया जाना भी है। पत्थरबाज और आतंकवादी भी अमरनाथ यात्रा को नुकसान को पहुंचाने की कोशिश करने की साजिश रच सकते हैं और इसी वजह से सरकार ने यात्रियों की सुरक्षा बढ़ा दी है। केन्द्रीय गृह सचिव राजीव महर्षि की अध्यक्षता में हुई बैठक में जम्मू कश्मीर के मुख्य सचिव बी बी व्यास, डीजीपी एस पी वैद और केन्द्रीय अर्द्धसैनिक बलों के महानिदेशक भी शामिल हुए।

मिली जानकारी के अनुसार इस बार अमरनाथ यात्रियों की सुरक्षा में अधिक जवानों को तैनात किया जाएगा। पिछली बार अमरनाथ यात्रियों की सुरक्षा के लिए सिर्फ बीस हजार जवान तैनात किए गए थे जबकि इस बार 27 हजार जवानों को तैनात किया जा रहा है। अभी तक 52 हजार श्रद्धालु यात्रा के लिए पंजीकरण करा चुके हैं। 25 हजार यात्री हेलीकाप्टर से जाने के लिए पंजीकरण करवा चुके हैं। यात्रियों की सुरक्षा के लिए सेना, सीआरपीएफ, जम्मू कश्मीर पुलिस, आईटीबीपी और एसएसएबी के जवान तैनात रहेंगे।

Comments

Most Popular

To Top