Army

कश्मीर में पहली बार सुरक्षाकर्मियों की जगह आतंकियों पर बरसे पत्थर

जम्मू-कश्मीर पुलिस

श्रीनगर। अब तक कश्मीर से आने वाली पत्थरबाजी की खबरों में सुना होगा कि लोगों ने सुरक्षाकर्मी और पुलिस वालों पर पत्थरबाजी कर कई जवानों को घायल किया या पत्थरबाजों को ढाल बनाकर आतंकी भागने में कामयाब हो गए लेकिन इस बार घाटी से ठीक इसके उलट खबर आई है जो कि हमारी सेना के लिए सकरात्मक है। अलकायदा के संगठन अंसार उल गजवा ए हिंद के कमांडर जाकिर मूसा को सोमवार को उसके ही गांव के गुस्साए लोगों ने मूसा और उसके साथियों पर जमकर पत्थर बरसाए। लोगों को अपने खिलाफ देख सभी आतंकी वहां से भाग खड़े हुए। आतंकी अपने नापाक इरादों को अंजाम देने में पैसों की तंगी से जूझ रहे है। थक हार कर आतंकी बैंक लूटने का प्रयास कर रहे हैं। लेकिन इसमें में आतंकियों को सफलता नहीं मिल रही है, क्योंकि आतंकियों को स्थानीय लोगों का समर्थन नहीं मिल पा रहा है।





एसपी अवंतीपोर मोहम्मद जैद के मुताबिक दक्षिण कश्मीर के नूरपोरा का रहने वाला जाकिर मूसा दोपहर करीब सवा दो बजे हथियारों के साथ दो अन्य साथियों सहित अपने गांव में J & K बैंक की शाखा लूटने आया था। उसने बैंक में मौजूद लोगों व सुरक्षाकर्मियों को धमकाते हुए एक तरफ खड़ा किया। इसकी सूचना मिलते ही बैंक के बाहर लोग जमा हो गए। उन्होंने आतंकियों पर पथराव शुरू कर दिया। इससे मूसा और उसके साथी ने जल्द ही वहां से भागने में ही भलाई समझी और आनन-फानन में आतंकी वहां कैश काउंटर पर पड़े करीब 97 हजार रुपये उठाकर फरार हो गए।

आतंकी मूसा और उसके साथियों ने पथराव कर रहे लोगों को हटाने के लिए हवा में चार-पांच राउंड फायर भी किए। एसपी ने कहा कि बैंक लूट की जानकारी मिलते ही राज्य पुलिस विशेष अभियान दल के जवान, सीआरपीएफ और सेना की आरआर जवान भी मौके-ए-वारदात पर पहुंच गए।

स्थिति का जायजा लेने और मौके पर मौजूद लोगों से बातचीत के आधार पर आतंकियों की खोज तेज कर दी गई है। उन्होंने कहा कि मूसा के त्राल में ही किसी जगह छिपे होने की आशंका है।

 

Comments

Most Popular

To Top