Army

बॉर्डर पर दिवाली, भारत-चीन सैनिकों ने संग-संग खाई मिठाई 

सीमा पर भारत-चीन के सैनिक

नई दिल्ली। पिछले साल जून से सितम्बर के बीच चले डोकलाम सैन्य तनाव को भूलते हुए भारत औऱ चीन के सैनिक दीपावली के मौके पर पूर्वी लद्दाख की वास्तविक नियंत्रण रेखा पर मिले। भारतीय सैनिकों ने चीनी सैनिकों को दीपावली की मिठाई खिलाई और शुभकामनाएं दी। पिछले अप्रैल माह में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और राष्ट्रपति शी चिन फिंग की वूहान में हुई शिखर बैठक के दौरान जो संकल्प लिये गए उसके अनुरुप दोनों देशों के सैनिकों ने आपसी सद्भाव का परिचय दिया।





दीपावली के मौके पर यह मिलन पूर्वी लद्दाख के भारत-चीन सीमांत इलाकों पर हुआ। दोनों देशों के सैनिकों ने साथ मिल कर दीप जला कर दीपावली मनाई। दीपावली के दीप ने बर्फीली चोटियों पर सैनिकों के बीच प्रकाश बिखेरा औऱ मिल कर रहने का नया उत्साह पैदा किया। अपनी सीमाओं की रक्षा कर रहे दोनों देशों के सैनिकों ने चुशुल – मोलदो और दौलतबेग-टी डब्ल्यू डी सीमा पर बार्डर पर्सनल मीटिंग (बीपीएम ) आयोजित की। इसमें भारतीय सैन्य शिष्टमंडल की अगुवाई ब्रिगेडियर वी के पुरोहित औऱ कर्नल एस एस लाम्बा ने की। चीनी सैन्य दल की अगुवाई सीनियर कर्नल ईन होंग छन और कर्नल सुंग चांग ली ने की।

इस पारम्परिक सीमा बैठक के दौरान दोनों देशों के सैनिक अधिकारियों ने सीमा पर शांति व स्थिरता का महत्व बताते हुए अपनी-अपनी बातें कहीं। दोनों देशों के सैनिकों ने सीमा पर आपसी सौहार्द बनाए रखने का संकल्प जाहिर किया। इस मौके पर एक सांस्कृतिक कार्यक्रम भी आयोजित किया गया जिसमें जीवंत भारतीय सस्कृति की झलक दिखाई गई। दोनों देशों के सैनिक बड़े ही मुक्त और खुले मन से एक-दूसरे से मिले और आपसी सद्भाव बढ़ाने का संकल्प लेते हुए एक-दूसरे से विदा हुए।

Comments

Most Popular

To Top