DEFENCE

स्पेशल रिपोर्ट: अपना एफ-16 गिरने की बात पाकिस्तान क्यों नहीं मानता

रवीश कुमार

नई दिल्ली। भारत ने पाकिस्तान से पूछा है कि वह क्यों नहीं मानता कि 27 फरवरी को भारतीय विमान के साथ मुठभेड़ के दौरान उसका एक अमेरिकी एफ- 16 लड़ाकू विमान मार गिराया।





यहां विदेश मंत्रालय के  प्रवक्ता रवीश कुमार ने शनिवार को मीडिया के सवालों के जवाब में कहा कि भारत के पास इस आशय के  इलेक्ट्रॉनिक  प्रमाण और गवाहों के बयान हैं कि पाकिस्तान ने 27 फरवरी को  भारतीय इलाकों में अपने लड़ाकू विमानों का जो बेड़ा भेजा उसमें एफ- 16 विमान भी थे। इनमें से एक एफ- 16 को विंग कमांडर अभिनंदन ने मार गिराया था। पाकिस्तानी वायुसेना ने भारतीय सैन्य ठिकानों पर हमले के लिये ‘एमराम मिसाइल’ दागी जो कि केवल एफ- 16 विमान पर ही तैनात की जा सकती है। भारत ने इस मिसाइल के हिस्से मीडिया को दिखाए हैं।

प्रवक्ता ने कहा कि पाकिस्तान बताए कि वह क्यों इस बात से इनकार कर रहा है कि उसका एक एफ- 16 विमान मार गिराया गया । हमने अमेरिका से भी कहा है कि वह यह पता लगाए कि क्या अमेरिकी एफ- 16 विमान का इस्तेमाल इसकी बिक्री की शर्तों के अनुरूप किया गया।

प्रवक्ता ने पाकिस्तान के इन दावों का खंडन किया कि उसने भारतीय वायुसेना के दो लड़ाकू विमान मार गिराए थे। प्रवक्ता ने कहा कि भारतीय वायुसेना ने इस बारे में सार्वजनिक बयान दिया है कि भारतीय वायुसेना का केवल एक विमान ही गिराया गया। पाकिस्तानी दावे के अनुरूप  यदि उसने दूसरा लड़ाकू विमान भी गिराया था तो एक सप्ताह बाद भी उसने क्यों नहीं अंतरराष्ट्रीय मीडिया को दिखाया। उनसे पूछा जाना चाहिये कि गिराए गए दूसरे विमान का मलबा कहां  है और इसके पायलट को क्या हुआ।

गौरतलब है कि 26 फरवरी को भारतीय वायुसेना ने पाकिस्तान के खैबरपख्तूनख्वा प्रांत के बालाकोट पहाड़ पर हवाई सर्जिकल हमला कर वहां जैश-ए-मोहम्मद के आतंकवादी प्रशिक्षण शिविर को तबाह कर दिया था। इसके अगले दिन पाकिस्तानी वायुसेना ने अपने एफ- 16 विमानों सहित करीब दस विमानों के साथ  जम्मू कश्मीर के भारतीय इलाके में आक्रमण किया था। इस दौरान पाकिस्तानी विमानों का मुकाबला करने के लिये भारतीय विमानों ने आसमान में पोजीशन सम्भाली थी और जवाबी कार्रवाई में मिग- 21 विमान पर सवार विंग कमांडर अभिनंदन ने पाकिस्तानी एफ- 16 को मार गिराया था। लेकिन विंग कमांडर अभिनंदन का विमान भी दुश्मन की जवाबी कार्रवाई में गिर गया था।

प्रवक्ता ने कहा कि 27 फरवरी को ही पाकिस्तानी हवाई हमले की जानकारी पारदर्शी तरीके से दी थी और राष्ट्रीय सम्प्रभुता की रक्षा की खातिर  भारत ने एक मिग- 21 विमान खोया और इसके पायलट विंग कमांडर को काकपिट से बाहर कूदना पड़ा। इन्हें पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर में पाक सेना ने हिरासत में ले लिया था।  लेकिन पाकिस्तान 27 फरवरी की वारदात के बारे में झूठ फैला रहा है।

प्रवक्ता ने कहा कि आतंकवादियों के खिलाफ कार्रवाई करने के बदले पाकिस्तान ने 27 फरवरी को भारत पर हवाई हमला किया। पाकिस्तान ने भारतीय नभ सीमा का अतिक्रमण किया और भारतीय सैन्य ठिकानों को निशाना बनाने की असफल कोशिश की। लेकिन पाकिस्तान के इस हवाई हमले को भारतीय सेना ने बेअसर कर दिया। दूसरी ओर भारतीय वायुसेना ने 26 फरवरी को बालाकोट पर हवाई हमला कर वांछित लक्ष्य हासिल कर लिया। गौरतलब है कि 26 फरवरी को भारतीय विदेश सचिव विजय गोखले ने अपने बयान में कहा था कि पाकिस्तान स्थित जैश ए मोहम्मद के कई आला कमांडरों का सफाया हो गया है।

Comments

Most Popular

To Top