DEFENCE

पाकिस्तान की जेलों से कहां गायब हो गए 54 भारतीय जवान

नई दिल्ली: 1965 और 1971 में भारत और पाकिस्तान के बीच हुए युद्ध के दौरान 54 सैनिक गायब हुए थे। इस बात की जानकारी रक्षा राज्यमंत्री डॉक्टर सुभाष भामरे ने लोकसभा में दी। उन्होंने एक सवाल के जवाब में बताया कि इन लड़ाइयों में भारतीय सेना के 54 जवान लापता हुए थे और वह पाकिस्तान की हिरासत में हैं। इस मसले को भारत सरकार नियमित अंतराल पर पाकिस्तान सरकार के सामने उठाती रही है लेकिन पाकिस्तान ने इस बात को कभी भी स्वीकार नहीं किया।





श्री भामरे ने यह भी बताया कि 1-14 जून 2007 तक पाकिस्तान की 10 जेलों में लापता रक्षाकर्मियों के संबंधियों के एक प्रतिनिधिमंडल ने दौरा भी किया। लेकिन कोई भी वहां की जेलों में बंद किसी भारतीय रक्षाकर्मी की पुष्टि नहीं कर सका।

इसी मामले से जुड़े एक अन्य सवाल के जवाब में श्री भामरे ने बताया कि गुजरात हाईकोर्ट ने 23.12.2011 के दिए अपने निर्णय के तहत अन्य बातों के साथ-साथ पाकिस्तान की हिरासत में माने जाने वाले लापता रक्षा कार्मिकों के निकटतम संबंधियों को सेवा और सेवानिवृत्ति लाभों का भुगतान ऐसे करने का आदेश जारी किया मानो वे अधिवर्षिता पर सेवानिवृत्त हुए हों। सरकार द्वारा गुजरात हाईकोर्ट के आदेश को स्वीकार कर लिया गया है और आदेश के अनुपालन के लिए आवश्यक कदम उठाए गए हैं। इसलिए इन सैनिकों को शहीद घोषित करने का सवाल ही नहीं उठता।

यानि कुल मिलाकर उन 54 जवानों का अब तक ठीक-ठीक पता नहीं चल पाया है कि आखिर वह कहां हैं? पाकिस्तान की जेल में हैं या फिर शहीद हो गए हैं।

Comments

Most Popular

To Top