DEFENCE

साइबर अपराधों की चुनौती से निपटने के लिए चर्चा करेंगे दुनियाभर के पुलिस अधिकारी

नई दिल्ली। केन्‍द्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह आज (बुधवार) पुलिस प्रमुखों के अंतर्राष्‍ट्रीय एसोसिएशन (आईएसीपी)  के दो दिवसीय एशिया प्रशांत क्षेत्रीय सम्‍मेलन का उद्घाटन करेंगे। इस सम्‍मेलन का विषय है, ‘2020 में पुलिस चुनौतियां-किस तरह साइबर स्‍पेस अपराध तथा आतंकवाद के प्रति हमारे दृष्टिकोण को आकार दे रहा है, हम इसके अंदर कैसे प्रदर्शन करेंगे और कैसे इसका लाभ उठाएंगे।’





क्षेत्रीय सम्‍मेलन का आयोजन आईएसीपी के एशिया प्रशांत विश्‍व क्षेत्रीय कार्यालय (एपीडब्‍ल्‍यूआरओ) द्वारा गुप्‍तचर ब्‍यूरो की साझेदारी में किया जा रहा है। एपीडब्‍ल्‍यूआरओ के अध्‍यक्ष के रूप में गुप्‍तचर ब्‍यूरो के निदेशक सम्‍मेलन के मेजबान हैं।

हाल के समय में पुलिस व्‍यवस्‍था के क्षेत्र में साइबर स्‍पेस तथा साइबर टेक्‍नोलॉजी के प्रभाव ने नई चुनौतियों को पेश किया है। इस सम्‍मेलन का मुख्‍य फोकस विभिन्‍न आतंकवादी/संगठित समूहों तथा चरमपंथी तत्‍वों द्वारा घृणित अपराधों और षड़यंत्रों को अंजाम देने के लिए साइबर स्‍पेस और इसकी अग्रणी टेक्‍नोलॉजियों के दोहन में उनकी दिलचस्‍पी पर चर्चा करना है।

यह सम्‍मेलन राष्‍ट्रीय और अन्‍तर्राष्‍ट्रीय स्‍तर के शीर्ष पुलिस अधिकारियों को यह समझने का मंच प्रदान करेगा कि कैसे साइबर स्‍पेस, साइबर अपराध और आतंकवाद की दिशा में हमारे दृष्टिकोण को आकार दे रहा है और अच्‍छी पुलिस व्‍यवस्‍था के लिए कैसे लाभ उठाया जा सके।

सम्‍मेलन में एशिया प्रशांत क्षेत्र-अफगानिस्‍तान, ऑस्‍ट्रेलिया, बांग्‍लादेश, कम्‍बोडिया, दुबई, फिजी, म्‍यांमार, मंगोलिया, नेपाल, कोरिया गणराज्‍य, श्रीलंका, ताईवान तथा थाईलैंड- के पुलिस संगठनों के प्रतिनिधियों के अतिरिक्‍त आईएसीपी के अध्‍यक्ष लुईस एम डेकमर, आईएसीपी मुख्‍यालय के वरिष्‍ठ कार्यकारी भाग लेंगे। भारत से राज्‍यों तथा केन्‍द्र शासित प्रदेशों और केन्‍द्रीय पुलिस संगठनों के 35 से अधिक प्रमुख भी भाग लेंगे।

राष्‍ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल प्रमुख भाषण देंगे। वर्तमान और भविष्‍य के हितों पर कुल सात पैनल चर्चा होगी। चर्चा में अमेरिका, कनाड़ा और भारत के अपने-अपने क्षेत्रों के विशेषज्ञ भाग लेंगे। गुरूवार 15 मार्च को गृह राज्‍य मंत्री किरेन रिजीजू समापन भाषण देंगे।

आईएसीपी विश्‍व के पुलिस/प्रवर्तन अधिकारियों का सबसे बड़ा संगठन है। कानून लागू करने वाले समुदाय की बदलती आवश्‍यकताओं को पहचानने और उसका समाधान निकालने में आईएसीपी की भूमिका को महत्‍वपूर्ण माना जाता है। आईएसीपी का मुख्‍यालय अमेरिका के वर्जिनिया में है। भौगोलिक आधार पर इसके सात विश्‍व क्षेत्रीय कार्यालय है। इसमें एपीडब्‍ल्‍यूआरओ शामिल है। आईएसीपी की वर्ष में एक बार अमेरिका में बैठक होती हैं, जिसमें विभिन्‍न विषयों पर पूरे विश्‍व के 15,000 से अधिक पुलिस अधिकारी विचार-विमर्श करते हैं। एशिया प्रशांत विश्‍व क्षेत्रीय कार्यालय (एपीडब्‍ल्‍यूआरओ) की स्‍थापना नई दिल्‍ली में 1994 में की गई थी और गुप्‍तचर ब्‍यूरो के निदेशक को इसका अध्‍यक्ष बनाया गया। पहले आईएसीपी, एपीडब्‍ल्‍यूआरओ के तत्‍वावधान में नई दिल्‍ली में चार सम्‍मेलन – जनवरी 1992 में चौथा आईएसीपी, एशिया प्रशांत क्षेत्रीय सम्‍मेलन, मार्च 2001 में आठवां आईएसीपी, एशियाई कार्यकारी पुलिस सम्‍मेलन, सितम्‍बर 2008 में आतंकवाद पर आईएसीपी संगोष्‍ठी तथा सितम्‍बर 2013 में पुलिस व्‍यवस्‍था पर सोशल मीडिया के प्रभाव पर क्षेत्रीय सम्‍मेलन– आयोजित किये गये।

Comments

Most Popular

To Top