DEFENCE

भारत में मिसाइलों का उत्पादन होगा चौगुना

मिसाइल

नई दिल्ली। डीआरडीएल के डायरेक्टर एमएसआर प्रसाद ने बताया कि इस प्रयोगशाला का एक महत्वपूर्ण प्रोडक्ट है ‘आकाश’ मिसाइल, जिसके विकास पर 250 करोड़ रुपये लगे थे। आज इसके उत्पादन के 25,000 करोड़ रुपये के ऑर्डर प्राप्त हो चुके हैं।





आकाश वह मिसाइल है, जिसे भविष्य में निर्यात भी किया जा सकता है। श्री प्रसाद ने कहा कि भारत अगले 10 साल में महाशक्ति बन जाएगा। देश को अब विज्ञान और तकनीक पर ध्यान देना चाहिए। हरेक उद्योग को रिसर्च और डेवलपमेंट पर धनराशि खर्च करनी चाहिए। भारत अभी इस काम पर अपने कुल खर्च की 0.9 फीसदी धनराशि खर्च करता है, जबकि यह 2.0 फीसदी होनी चाहिए।

Comments

Most Popular

To Top