DEFENCE

हमारी शालीनता का गलत अर्थ न निकाले पड़ोसी मुल्क : राजनाथ सिंह

राजनाथ सिंह

चंडीगढ़। जम्मू-कश्मीर में पाकिस्तान की तरफ से लगातार सीज फायर का उल्लंघन करने पर केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि पडोसी देश हमारी शालीनता का गलत अर्थ न निकालें। राजनाथ सिंह मंगलवार को चंडीगढ़ में भारतीय जनता युवा मोर्चा (भाजयुमो) कार्यकर्ताओं को संबोधित करने के बाद पत्रकारों से बातचीत कर रहे थे।  उन्होंने कहा है कि पडोसी देश पाकिस्तान ने सीजफायर का उल्लंघन न करने का आश्वाशन दिया था लेकिन उसकी नापाक हरकते जारी हैं।





एक शक्तिशाली देश बन चुका भारत 

यहां उन्होंने कहा कि भारत अब एक कमजोर देश नहीं रहा है बल्कि एक शक्तिशाली देश बन चुका है। पाकिस्तान को चाहिए कि वह दोस्ताना माहौल बनाए लेकिन वह इस और कोई कदम नहीं बढ़ा रहा है। जबकि पड़ोसी देश होने के नाते भारत हमेशा ही दोस्ती का हाथ बढ़ाता रहा है। राजनाथ सिंह ने कहा कि कश्मीर का माहौल पहले से काफी सामान्य हुआ है, क्योंकि सेना वहां बढ़िया काम कर रही है।

देश में बढती हिंसक गतिविधियों के बारे में पूछे जाने पर राजनाथ सिंह ने कहा कि जाति और धर्म की भावना से निकलने की जरूरत है। देश में सभी सुरक्षित हैं। फिर चाहे वह कोई जाति या धर्म क्यों न हो। हमें अपनी मानसिकता बदलनी होगी। यहां मौजूद गृहमंत्री ने पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह और राज्यपाल वीपी सिंह बदनौर से भी मुलाकात की। गृहमंत्री ने राज्य में अपराधियों के विरुद्ध कार्रवाई के लिए हरसंभव मदद का भारोसा जताया है।

सूचना अधिकार कानून के तहत प्राप्त जानकारी  के अनुसार  जम्मू-कश्मीर में पिछले वर्ष स्थानीय आतंकियों की तुलना में विदेशी आतंकी मारे गए है।  कार्यकर्ता रमन शर्मा की तरफ से RTI के तहत मांगी गई जानकारी के जबाव में केंद्रीय गृह मंत्रालय के चीफ पब्लिक इंफारमेशन अधिकारी ने बताया है कि जम्मू-कश्मीर में 2017 में 342 आतंकी घटनाएं हुई। पिछले वर्ष 213 आतंकी मारे गए। इनमें 127 विदेशी और 86 स्थानीय आतंकी शामिल थे। इन घटनाओं में तकरीबन 150 लोगों की मौत हुई। इस दौरान 80 सुरक्षाकर्मी शहीद हुए और 226 घायल हो गए। वर्ष 2016 में 82 सुरक्षाकर्मी शहीद हुए थे और 219 घायल हो गए थे।

Comments

Most Popular

To Top