DEFENCE

Special Report: अमेरिकी नौसेना प्रमुख सहयोग गहरा करने भारत आए 

अमेरिकी नौसेना प्रमुख एडमिरल जान माइकल रिचर्डसन

नई दिल्ली। अमेरिकी नौसेना प्रमुख एडमिरल जान माइकल रिचर्डसन ने यहां सोमवार को भारतीय नौसेना प्रमुख एडमिरल सुनील लांबा से मुलाकात कर दोनों देशों के बीच नौसैनिक सहयोग को और विस्तार तथा गहरा बनाने के उपायों पर बातचीत की है। एडमिरल रिचर्डसन 12 से 14 मई तक भारत के दौरे पर आए हैं। नौसेना प्रमुख के अलावा उनकी रक्षा सचिव, थलसेना के उप प्रमुख और वायुसेना प्रमुख से भी अलग से बैठकें हुई हैं। एडमिरल रिचर्डसन ने एकीकृत सैन्य बल के प्रमुख ( सीआईडीएस) के अलावा राष्ट्रीय सुरक्षा परिषद के सचिवालय के आला अधिकारियों से भी बैठकें की।





यहां नौसेना के प्रवक्ता कैप्टन डी के शर्मा ने यह जानकारी देते हुए बताया कि भारतीय और अमेरिकी नौसेनाएं भिन्न स्तरों पर आपसी और बहुपक्षीय मंचों पर तालमेल रखती हैं। इनमें त्रिपक्षीय और बहुपक्षीय रिमपैक साझा नौसैनिक अभ्यास शामिल है। दोनों नौसेनाओं के बीच आपसी तालमेल औऱ सहयोग गहरा करने के लिये नियमित तौर पर खास विषयों के अधिकारियों की बैठकें भी होती हैं। इनसे दोनों नौसेनाओं के बीच संस्थागत सम्बन्ध मजबूत होते हैं।

गौरतलब है कि अमेरिका ने भारत को 2016 में मेजर डिफेंस पार्टनर का दर्जा दिया था। इसके बाद से दोनों देशों के बीच रिश्ते और गहरे हुए हैं। पिछले साल सितम्बर में पहली मंत्रिस्तरीय टू प्लस टू वार्ता के बाद दोनों देशों के बीच रक्षा सहयोग को और व्यापक रूप दिया जा रहा है। प्रवक्ता ने बताया कि अमेरिकी नौसेना के दौरे में जिन प्रमुख मसलों पर चर्चा हुई उनमें आपरेशंस और अभ्यास, ट्रेनिंग, सूचना आदान प्रदान, क्षमता निर्माण औऱ विस्तार शामिल है।

Comments

Most Popular

To Top