DEFENCE

स्पेशल रिपोर्ट: राफेल विमान पर पाक पायलटों को ट्रेनिंग की रिपोर्ट से हलचल

राफेल लड़ाकू विमान

नई दिल्ली। खाड़ी के मुल्क कतर को फ्रांस ने वही राफेल लड़ाकू विमान बेचे हैं जो भारत को बेचे जा रहे हैं। भारत के लिए यह चिंता की बात नहीं है लेकिन जो बात भारतीय सामरिक हलकों को अचम्भित कर रही है कि राफेल विमान पर पाकिस्तानी लड़ाकू पायलटों को प्रशिक्षण का मौका कैसे मिला।





कतर औऱ पाकिस्तान के बीच सैनिक सहयोग काफी गहरा है और पाकिस्तान के सैनिक कतर में तैनात रहते हैं। इसके अलावा पाकिस्तान के वायुसैनिकों को भी कतर की वायुसेना के साथ तैनात किया जाता है। कतर औऱ पाकिस्तान के वायुसैनिकों के बीच आदान प्रदान का कार्यक्रम चलता है।  इसी को आधार बनाते हुए एक अमेरिकी समाचार पोर्टल ने रिपोर्ट की है कि पाकिस्तान के लडाकू पायलटों को कतर की वायुसेना में कुछ साल पहले शामिल राफेल लडाकू विमानों पर ट्रेनिंग दी गई है।

इस रिपोर्ट को यहां फ्रांस के राजदूत ने तुरंत संज्ञान में लिया और भारत की नाराजगी से बचने के लिये  ट्वीट किया कि राफेल विमान पर फ्रांसीसी वायुसेना द्वारा पाकिस्तान के पायलटों को ट्रेनिंग देने की खबर झूठी है। लेकिन सामरिक हलको में कहा जा रहा है कि भले ही फ्रांस की वायुसेना ने पाकिस्तानी पायलटों को ट्रेनिंग नहीं दी राफेल बनाने वाली दासो कम्पनी ने पाकिस्तानी पायलटों को कतर में तैनाती के दौरान ट्रेनिंग दी है।

लेकिन इस बात को लेकर भी यहां सामरिक हलकों में चिंता नही है। कहा जा रहा है कि यदि पाकिस्तानी पायलटों को राफेल पर ट्रेनिंग मिली है तो इससे पाकिस्तानी वायुसेना को पता चलेगा कि राफेल विमान में क्या खासियत है और इसकी मार से बचना उसके लिये कितना मुश्किल साबित होगा।

 बहरहाल इस आशय की रिपोर्टें है कि भारतीय वायुसेना ने फ्रांसीसी वायुसेना से इस बारे में स्पष्टीकरण मांगा है।

Comments

Most Popular

To Top