DEFENCE

स्पेशल रिपोर्ट: अंडमान निकोबार कमांड के मुखिया के अधीन होंगे तीनों सेनाओं के अफसर

रक्षामंत्री निर्मला सीतारमण

नई दिल्ली। तीनों सेनाओं की पहली साझा अंडमान एवं निकोबार कमांड के मुखिया को कमांड में तैनात वायुसैनिक अफसरों पर पूरा प्रशासनिक अधिकार होगा। वायुसेना द्वारा अपने अफसरों को वायुसेना द्वारा दिये गए इस आशय के निर्देश देने के लिये रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण ने सराहा है।





यहां वायुसेना मुख्यालय वायुभवन में आयोजित इस साल के पहले छमाही कमांडर सम्मेलन को अपने सम्बोधन में रक्षा मंत्री सीतारमण ने इस बात का जिक्र कर यह साफ किया है कि अब अंडमान एवं निकोबार कमांड में तीनों सेनाओं के अफसर अपने-अपने सैन्य मुख्यालयों से निर्देशित नहीं होंगे। इसका एक बड़ा सुफल यह निकलेगा कि तीनों सेनाओं में साझापन का माहौल बनेगा और कमांड के कमांडर निःसंकोच तीनों सेनाओं के अफसरों पर समान प्रशासनिक अधिकार चला सकेंगे।

31 मई और एक जून को दो दिनों तक चलने वाले इस सम्मेलन में वायुसेना के विभिन्न कमांडों के आला अधिकारी प्रशासनिक और समाघात मसलों पर गहन चर्चा करेंगे। सम्मेलन को वायुसेना प्रमुख एयर चीफ मार्शल बीएस धनोआ ने भी सम्बोधित किया। सम्मेलन के उद्घाटन के मौके पर रक्षा राज्य मंत्री सुभाष भामरे,  रक्षा सचिव संजय मित्र और अन्य आला अधिकारी मौजूद थे।

अपने सम्बोधन में रक्षा मंत्री सीतारमण ने वायुसेना की इस बात के लिये सराहना की कि हाल में वायुसेना ने गगनशक्ति वायुसैनिक अभ्यास में अभूतपूर्व कामयाबी हासिल की। उन्होंने कहा कि हाल के वक्त में सम्पन्न हुए अब तक के सबसे बड़े सैन्य अभ्यास में तीनों सेनाओं ने असाधारण साझापन का परिचय दिया।

वायुसेना प्रमुख ने अपने सम्बोधन में रक्षा मंत्री को वायुसेना के मौजूदा हालात के बारे में जानकारी दी और बताया कि पिछले अप्रैल माह में गगनशक्ति अभ्यास का किस तरह सफलतापूर्वक संचालन हुआ। उन्होंने कहा कि विभिन्न पहलुओं से गगनशक्ति अभ्यास काफी फलदायक रहा। उन्होंने बताया कि अभ्यास के दौरान किस तरह सैनिकों को एक रणक्षेत्र से दूसरे रणक्षेत्र में भेजा गया और शस्त्र प्रणालियों और शस्त्र मंचों को किस तरह न्यूनतम वक्त में रणक्षेत्र में तैनात किया जा सका। इस दौरान वायुसेना के विभिन्न महकमों और प्रणालियों की कार्यक्षमता की भी परीक्षा हो गई। रक्षा मंत्री ने कहा कि गगनशक्ति वायुसेना के लिये एक लैंडमार्क अभ्यास कहा जा सकता है।

अंडमान एवं निकोबार कमांड देश का पहला एकीकृत थियेटर कमांड है जिसका मुख्यालय पोर्ट ब्लेयर में है और यह चीफ आफ स्टाफ कमेटी के अधीन काम करता है। इसके मौजूदा कमांडर इन चीफ वाइस एडमिरल पीके चटर्जी हैं। इस कमांड की जिम्मेदारी हिंद महासागर से लेकर मलक्का जलडमरूमध्य तक भारत के सामरिक हितों की चौकसी करना है।

 

Comments

Most Popular

To Top