DEFENCE

स्पेशल रिपोर्ट: लखनऊ में रक्षा प्रदर्शनी की तैयारी की समीक्षा

CRPF प्रदर्शनी में सेल्फी प्वाइंट
फाइल फोटो

नई दिल्ली। अगले साल लखनऊ में पांच से आठ फरवरी तक आयोजित होने वाली रक्षा प्रदर्शनी डेफ एक्सपो-2020 की तैयारी की समीक्षा यहां रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने उत्तर प्रदेश के मुख्य मंत्री  योगी  आदित्यनाथ के साथ एक उच्चस्तरीय बैठक के दौरान की। गौरतलब है कि लखनऊ में पहली बार डेफ एक्सपो का आयोजन किया जा रहा है। इस प्रदर्शनी में देश विदेश की छह सौ से अधिक अग्रणी रक्षा कम्पनियां अपने उत्पादों की प्रदर्शनी  करेंगी।





प्रदर्शनी के लिए योजना एवं प्रबंधों की समीक्षा करते हुए, रक्षा मंत्री ने कहा कि डिफेंस एक्सपो से उत्तर प्रदेश में रक्षा गलियारे के लिए अपेक्षित निवेश को बढ़ावा मिलेगा। उन्होंने हाल में अपने   दक्षिण कोरिया दौरे का जिक्र करते हुए कहा कि में वहां  की कई कंपनियों ने उत्तर प्रदेश में निवेश की ईच्छा जताई है।

राजनाथ सिंह ने उम्मीद जताई कि प्रदर्शनी के सफल संचालन के लिए उत्तर प्रदेश की सरकार संपूर्ण सहयोग देगी। प्रदर्शनी के लिए उत्तर प्रदेश की सरकार के द्वारा 300 एकड़ जमीन की शिनाख्त कर ली गई है।

रक्षा मंत्री  ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के नेतृत्व में उत्तर प्रदेश की सरकार के द्वारा राज्य में ‘उत्तर प्रदेश निवेशक शिखर वार्ता’ एव ‘प्रवासी भारतीय दिवस’ के सफल प्रबंधन की सराहना की और  कहा, “डिफेंस एक्सपो 2020 भावी आयोजनों के लिए एक शानदार उदाहरण प्रस्तुत करेगा”।

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री ने डिफेंस एक्सपो-इंडिया 2020 के सफल संचालन के लिए रक्षा मंत्रालय को हर संभव मदद का आश्वासन दिया। मुख्य मंत्री ने डिफेंस एक्सपो-इंडिया 2020 को गर्व का विषय बताया और इस सम्मानजनक आयोजन के प्रबंधन हेतु लखनऊ का चयन करने के लिए भारत सरकार का धन्यवाद किया। उन्होंने कहा कि वर्तमान में स्थल के लेवल करने का कार्य चल रहा है और इस महीने के अंत तक स्थल को प्रदर्शनी के लिए सौंप दिया जाएगा। श्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि उत्तर प्रदेश में निवेश की इच्छुक कंपनियों के लिए 3,000 एकड़ का भूमि बैंक बनाया गया है और उन्हें सभी आवश्यक सहयोग दिया जाएगा।

बैठक के दौरान, विभिन्न विभागों के द्वारा अदा की जाने वाली जिम्मेवारियों के बारे में अधिकारियों ने संक्षिप्त जानकारी दी।

इस अवसर पर डिफेंस एक्सपो 2020 की विवरणिका भी जारी की गई। विभिन्न हितधारकों  की भूमिका एवं उत्तरदायित्व और रक्षा मंत्रालय एवं उत्तर प्रदेश सरकार के अधिकारियों के बीच आदान-प्रदान से संबंधित एक समझौता ज्ञापन पर भी हस्ताक्षर किए गए।

रक्षा राज्य मंत्री श्रीपद येस्सो नाइक, सेनाध्यक्ष जनरल बिपिन रावत, नौसेनाध्यक्ष एडमिरल कर्मबीर सिंह, रक्षा सचिव डॉ. अजय कुमार, सचिव (रक्षा उत्पादन) श्री सुभाष चंद्र, सचिव (रक्षा वित्त) श्रीमती गार्गी कौल, सचिव, रक्षा विभाग आर एंड डी एवं डीआरडीओ के अध्यक्ष डॉ. जी. सतीश रेड्डी  तथा रक्षा मंत्रालय के अन्य वरिष्ठ अधिकारी एवं उत्तर प्रदेश सरकार के मुख्य सचिव और प्रदर्शनी की नोडल एजेंसी-हिंदुस्तान एयरोनोटिक्स लिमिटिड (HAL) के अधिकारी इस अवसर पर उपस्थित थे।

रक्षा मंत्रालय के तत्वधान में आयोजित डिफेंस एक्सपो-इंडिया 2020 के 11वें संस्करण में ‘भारत-उभरता हुआ रक्षा विनिर्माण केंद्र’ के प्रतीक चिन्ह की विशिष्टता को दर्शाया जाएगा। इस आयोजन की विषय-वस्तु हैः-‘रक्षा का डिजिटल रूपांतरण’।

Comments

Most Popular

To Top