DEFENCE

स्पेशल रिपोर्ट: पाक की कोशिश कामयाब नहीं होगी- भारत

प्रवक्ता रवीश कुमार

नई दिल्ली।  जम्मू कश्मीर पर भारत सरकार द्वारा उठाए गए कदम के खिलाफ पाकिस्तान द्वारा कड़ी प्रतिक्रिया को भारत ने दुर्भाग्यपूर्ण बताया है और इसे एकपक्षीय फैसला बताते हुए कहा है कि  भारतीय संविधान की धारा 370 के सिलसिले में उठाया गया कदम पूरी तरह भारत का अंदरूनी मामला है।





गौरतलब है कि  धारा 370 के सिलसिले में  लिये गए फैसले के बाद पाकिस्तान ने इस्लामाबाद में भारतीय उच्चायुक्त अजय बिसारिया को पाकिस्तान छोड़ देने, भारत से अपने उच्चायुक्त को बुला लेने,  भारत के साथ व्यापार रोक देने और भारतीय उड़ानों के लिये अपने आसमान पर आंशिक प्रतिबंध लगाने का फैसला किया है जिसके बारे में भारत ने कहा है कि  इन कदमों के पीछे एकमात्र इरादा  दुनिया के सामने डरावना दृश्य पेश करना है।

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार  ने कहा कि जम्मू-कश्मीर पर लागू भारतीय संविधान  हमेशा भारत का सम्प्रभु मामला रहा है और रहेगा। भारत पाकिस्तान के दिवपक्षीय रिश्तों में तनाव पेश कर  इस इलाके का भयावह माहौल  पेश कर रहा है लेकिन वहां भारतीय अधिकार क्षेत्र में हस्तक्षेप की कोशिश कभी  कामयाब नहीं होगी।

पाकिस्तान के फैसलों पर खेद जाहिर करते हुए प्रवक्ता ने पाकिस्तान से कहा कि  अपने फैसलों की समीक्षा करे ताकि राजनययिक संवाद का सामान्य माध्यम खुला रहे।

प्रवक्ता ने कहा कि भारत ने  जो कदम उठाया है इसके पीछे उद्देश्य  जम्मू कश्मीर को विकास के लाभ से वंचित नहीं रखना है। जम्मू कश्मीर  पर लागू  अस्थायी प्रावधानों की वजह से जम्मू-कश्मीर के लोग इस लाभ से वंचित रखे गए। यह हैरानी की बात नहीं है कि  जम्मू कश्मीर को विकास के लाभ मुहैया कराने की कोशिशों को पाकिस्तान में नकारात्मक नजरिये से देखा गया। पाकिस्तान ने इन भावनाओं  का दोहन  किया ताकि सीमा पार आतंकवाद को उचित ठहराया जा सके।

Comments

Most Popular

To Top