DEFENCE

स्पेशल रिपोर्ट: आतंकवाद, समुद्री सुरक्षा पर भारत-ब्रिटेन के बीच हुई वार्ता

ब्रिटिश पीएम मे के साथ पीएम मोदी
फाइल फोटो

नई दिल्ली। भारत और ब्रिटेन ने यहां विदेश मंत्रालयों के उच्चस्तरीय सलाहमशविरा के तहत बातचीत के बाद सुरक्षा, व्यापार और जनता स्तर पर सम्पर्क को और  गहरा करते रहने की  प्रतिबद्धता जाहिर की है।





दोनों देशों ने कहा है कि वे  अच्छाई के लिये साझा ताकत के तौर पर अपनी संयुक्त  भूमिका को और मजबूत करेंगे। दोनों देशों के बीच यहां हुई वार्ता में साइबर सुरक्षा, समुद्री सुरक्षा., आतंकवाद और क्षेत्रीय चुनौतियों से मिल कर मुकाबला करने पर चर्चा हुई।

दोनों विदेश मंत्रालयों के बीच उच्चस्तीय सलाहमशविरा वार्ता विदेश सचिव स्तर पर हुई। भारतीय विदेश सचिव विजय गोखले से बातचीत ब्रिटेन के विदेश और राष्ट्रमंडल विभाग के स्थायी अवर सचिव साइमन मैकडोनाल्ड के साथ हुई। गौरतलब है कि पिछले साल अप्रैल में राष्ट्रमंडल शिखर सम्मेलन में भाग लेने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी लंदन गए थे और उस दौरान प्रधानमंत्री तेरेसा मे के साथ रिश्तों को आगे बढ़ाने के लिये कई सहमतियां हुई थीं।

तब से एक साल तक दोनों देशों के बीच रिश्तों में हुई प्रगति की समीक्षा यहां दोनों विदेश सचिवों ने की। पिछले एक साल में दोनों देशों ने साथ काम करने के लिये विशेष क्षेत्रों की पहचान की है। दोनों देश पर्यावरण बदलाव, आपदा राहत और विकास के मसले पर वैश्विक गठजोड़ में सहयोगी भूमिका निभाएंगे। इस दौरान दोनों देशों के बीच व्यापार में 14 प्रतिशत की बढ़ोतरी हुई है और  ब्रिटेन ने 35 प्रतिशत अधिक वीजा भारतीय छात्रों  के लिये जारी किये।

सलाहमशविरा बैठक के दौरान  साइमन मैकडोनाल्ड ने अंतरराष्ट्रीय सौर गठजोड़ ( आईएसए ) के अनुमोदन दस्तावेज पेश किये।  समीक्षा बैठक के बाद साइमन मैकडोनाल्ड ने कहा कि  भारत ब्रिटेन के रिश्ते भविष्य पर आधारित हैं। चाहे  यह सुरक्षा साझेदारी पर हो या तकनीकी सहयोग या व्यापार औऱ आर्थिक रिश्तों पर हो दोनों देश भविष्य  की चुनौतियों से मिलकर मुकाबला करने को तैयार हैं। अगले दशक के दौरान भारत और ब्रिटेन सुरक्षा, विकास और पृथ्वी को बचाने के लिये चल रही वैश्विक बहस में  केन्द्रीय भूमिका निभाएंगे। उन्होंने कहा कि उन्हें खुशी है कि दोनों देश साथ मिलकर काम कर रहे हैं।  दोनों देशों ने कहा है कि भारत औऱ ब्रिटेन अंतरराष्ट्रीय नियम आधारित व्यवस्था में भरोसा करते हैं।

Comments

Most Popular

To Top