DEFENCE

खास रिपोर्ट: भारत ने अफगानिस्तान को दिए 2 और हेलिकॉप्टर

हेलिकॉप्टर
फाइल फोटो

नई दिल्ली। ऐसे दौर में जब अफगानिस्तान पर पाकिस्तान के पिट्ठू आतंकवादी संगठन तालिबान को काबुल की सत्ता सौंपने के लिये अमेरिका और तालिबान के बीच गहरी सौदेबाजी चल रही है भारत ने अफगानिस्तान की सेना को तीन दिनों पहले दो और हमलावर हेलिकॉप्टर सौंपें हैं।





साल 2015 में भारत ने अफगानिस्तान को कुल 12 तोपधारी हेलिकॉप्टर सौंपने का वादा किया था जिसमें से अंतिम दो हेलिकॉप्टरों की खेप अफगानिस्तान को काबुल के बगराम वायुसैनिक अड्डे पर भारतीय राजदूत विनय कुमार की मौजूदगी में सौंपे गए। मी-35 या मी-24वी नाम से ज्ञात इन हेलिकॉप्टरों की सप्लाई से अफगानिस्तान वायुसेना की तालिबान हमलावरों से लड़ने की क्षमता बेहतर होगी। ये हेलिकाप्टर अफगानिस्तान के कार्यवाहक रक्षा मंत्री असादुल्ला खालिद को सौंपे गए। इन नये रुप दिये गए हेलीकाप्टरों की पूरी लागत भारत ने वहन की है। कुल चार में से दो मी-35 हेलीकाप्टरों को गत मई महीने में अफगानिस्तानी वायुसेना को सौंपे गए थे।

गौरतलब है कि साल 2015-16 में भी भारत ने अफगान वायुसेना को जो चार हेलिकॉप्टर सौंपे थे इनकी जगह पर इन चार मी-35 हेलिकाप्टरों को सौंपा गया है। अमेरिकी रक्षा मुख्यालय पेंटागन की जुलाई, 2019 में जारी रिपोर्ट में कहा गया है कि साल 2015-16 में भारत ने चार मी- 35 हेलिकॉप्टर दिये थे, इसके बाद चार और मी- 35 हेलिकॉप्टर 2018 में भेजे गए। अफगानी वायुसेना के साथ अमेरिका सहयोग कर रहा है लेकिन वह मी- 35 हेलिकॉप्टरों की देखरेख में मदद नहीं करता है। लेकिन अफगानी वायुसेना इनकी देखरेख करती है। अमेरिका इनके बदले अमेरिका निर्मित यूएच- 60 ब्लैकहाक हेलिकाप्टरों की सप्लाई करने की जुगत में है। गौरतलब है कि साल 2008 में नाटो के सदस्य चेक गणराज्य ने भी अपने बेडे में से चार मी-35 हेलिकाप्टरों की सप्लाई की थी। बाद में अफगानिस्तान और रूस के साथ भारत ने इन हेलिकाप्टरों की मरम्मत और देखरेख के लिये एक त्रिपक्षीय समझौता किया था।

Comments

Most Popular

To Top