DEFENCE

Special Report: भारत-फ्रांस के बीच सामरिक सहयोग होगा और गहरा 

फ्रांस में विदेश सचिव विजय गोखले

नई दिल्ली। भारत और फ्रांस ने आपसी सामरिक साझेदारी को और गहरा करने का संकल्प जाहिर किया है और कहा हैकि आने वाले सालों में दोनों के बीच सामरिक सहयोग और गहरा होगा।





यहां फ्रांस के राष्ट्रीय दिवस के मौके पर आयोजित एक स्वागत समारोह में  मुख्य अतिथि के तौर पर भारतीय विदेश सचिव विजय गोखले मौजूद थे। इस मौके पर उन्होंने कहा कि भारत और फ्रांस के बीच 1998 से ही सामरिक साझेदारी का रिश्ता बना है और अब दोनों देश इसके आधार पर दुनिया में साझा भूमिका निभा रहे हैं। विजय गोखले ने कहा कि दोनों देशों के बीच सहयोग सुरक्षा, परमाणु  और अंतरिक्ष क्षेत्रों में काफी गहरा हो चुका है जिससे दोनों देश लाभान्वित हो रहे हैं।

फ्रांस के राजदूत अलेक्जेंडर जीगलर ने अपने स्वागत भाषण में कहा कि भारत के साथ सामरिक साझेदारी का रिश्ता रंग ला रहा है जिसका असर जनता स्तर पर देखने को मिल रहा है। उन्होंने बताया कि पिछले साल भारत से आठ लाख भारतीय पर्यटक फ्रांस गए जो यह दर्शाता है कि फ्रांस के प्रति भारतीयों में कितना लगाव बढ़ गया है।  राजदूत ने कहा कि  भारत और फ्रांस दोनों जनतांत्रिक मूल्यों में विश्वास रखने वाले देश हैं।

विदेश सचिव गोखले ने कहा कि आगामी नवम्बर में फ्रांस में हो रही सात देशों के संगठन जी-7 की शिखर बैठक में फ्रांस ने  भारतीय प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को आमंत्रित कर भारत को विशेष सम्मान दिया है। उन्होंने बताया कि इस शिखर बैठक के लिये फ्रांस जाने के पहले भारत और फ्रांस के शिखर नेताओं की दिवपक्षीय बैठक भी होगी।

फ्रांसीसी  दूतावास में आयोजित स्वागत समारोह में कई देशों के राजदूत और राजनयिक मौजूद थे।

गौरतलब है कि  फ्रांस के सहयोग से भारतीय नौसेना के लिये छह स्कारपीन पनडुब्बियों का निर्माण हो रहा है। इसके अलावा भारतीय वायुसेना के लिये 36 राफेल लडाकू विमानों का निर्माण भी इन दिनों फ्रांस में हो रहा है।

Comments

Most Popular

To Top