DEFENCE

स्पेशल रिपोर्ट: पुलवामा हमले में पाक हाई कमिश्नर तलब, भारत के उच्चायुक्त को नई दिल्ली बुलाया गया

पाक उच्चायुक्त

नई  दिल्ली।  जम्मू कश्मीर के पुलवामा में आतंकवादी हमले में सीआरपीएफ के 40 जवानों की हत्या की एक दिन बाद चीन ने भी निंदा कर दी। इसके पहले  अमेरिका, रूस, कनाडा, संयुक्त अरब अमीरात , सऊदी अरब, फ्रांस, जर्मनी, नेपाल, बांग्लादेश, भूटान आदि देशों ने पुलवामा हमले की  कड़े शब्दों में निंदा कर पाकिस्तान को आगाह किया कि अपने यहां से आतंकवादी हरकतें पड़ोसी देशों में संचालित नहीं होने दें।





इस हमले की पाकिस्तान ने दबे शब्दों में निंदा की लेकिन भारत इससे संतुष्ट नहीं हुआ और शुक्रवार दोपहर को यहां पाकिस्तानी उच्चायुक्त सोहेल महमूद  को  विदेश मंत्रालय में तलब किया गया और उऩ्हें चेतावनी दी गई कि अपनी धरती से भारत विरोधी आतंकवादी हरकतों का संचालन नहीं हो। गौरतलब है कि पुलवामा हमले की जिम्मेदारी पाकिस्तान स्थित आतंकवादी संगठन जैश ए मोहम्मद ने ली है। भारत ने विभिन्न खुफिया रिपोर्टों के आधार पर कहा है कि पुलवामा हमले के मास्टरमाइंड पाकिस्तान में बैठे हैं जिनके खिलाफ सख्त कार्रवाई होनी चाहिये।

इस बीच शुक्रवार दोपहर बाद भारत ने इस्लामाबाद स्थित अपने उच्चायुक्त अजय बिसारिया को सलाह मशविरा के लिये नई दिल्ली बुलाया है।

भारत का इशारा जैश-ए-मोहम्मद के सरगना मसूद अजहर की ओर था जिसके खिलाफ प्रतिबंध लगाने के  संयुक्त राष्ट्र प्रस्ताव को चीन ने वीटो कर दिया है।  जैश-ए-मोहम्मद के खिलाफ सुरक्षा परिषद ने पहले ही प्रतिबंध लगाया था लेकिन मसूद अजहर को अंतरराष्ट्रीय आतंकवादी घोषित करने वाला प्रस्ताव चीन ने पाकिस्तान के कहने पर वीटो कर दिया।

लेकिन भारत ने गुरुवार रात बयान जारी कर संकेत दिया कि  पिछले साल वूहान में भारत चीन शिखर बैठक  के बाद ठंढे बस्ते में पड़े  इस मसले को भारत फिर उठाएगा और सुरक्षा परिषद के सदस्यों से कहेगा कि जैश ए मोहम्मद के सरगना मसूद अजहर को  सुरक्षा परिषद 1267 प्रस्ताव के तहत अंतररराष्ट्रीय आतंकवादी घोषित करने वाला प्रस्ताव मंजूर करे।

इस तरह भारत एक बार फिर पाकिस्तान पर अंतरराष्ट्रीय राजनयिक दबाव बढ़ाएगा और उसे अंतरराष्ट्रीय समुदाय की नजरों में आतंकवाद समर्थक देश बताकर नीचा दिखाने की कोशिश कर अलग थलग करने की रणनीति पर काम करेगा।

Comments

Most Popular

To Top