DEFENCE

Special Report: सेना प्रमुख की मौजूदगी में रक्षा निर्यात संगठन की स्थापना

सेना प्रमुख बिपिन रावत

नई दिल्ली। भारत से रक्षा साज सामान के निर्य़ात के लिये स्वदेशी रक्षा साज सामान  निर्यातक संगठऩ (IDEEA)  की स्थापना यहां  थलसेना प्रमुख जनरल बिपिन रावत की  मौजूदगी में की गई।  यह एक गैरसरकारी औऱ  लाभ न कमाने  वाला संगठन है  जिसका उद्देश्य भारत को दुनिया में सबसे बड़ा रक्षा निर्यातक देश बनाना है।





यह संगठन रक्षा अताशे सम्मेलने के दौरान थलसेना प्रुमुख  की मौजूदगी में स्थापित हुआ। यह संगठन वैश्विक शस्त्र बाजार और भारतीय रक्षा उद्योग के बीच तालमेल बनाने का काम करेगा।  इसका मुख्य जोर मझोले औऱ छोटे उद्योंगों पर होगा।  यह संगठन भारत में बने रक्षा साज सामान को पूरी दुनिया में पेश करेगा  ताकि अपने सदस्यों के लिये सप्लाई के ठेके ले सके।  सरकार ने साल 2024 तक भारत  से 05 अरब  डॉलर  सैनिक साज सामान के निर्यात का लक्ष्य रखा है।

इस संगठन के निदेशक मेजर जनरल  पी.एम वत्स ने  कहा कि हम  अपने देश में रोजगार के अवसर बेहतर करना चाहते हैं  और घरेलू उद्योगों द्वारा उत्पादित रक्षा साज सामान का निर्यात बढ़ाना चाहते हैं।  इसके लिये हम  उच्च गुणवत्ता वाले रक्षा साज सामान देश में ही उत्पादित करने को बढ़ावा देंगे।

इस संगठऩ में देश के अग्रणी रक्षा उत्पादक जैसे  एलएंडटी डिफेंस,  जेन टेक्नालाजीज, एमकेयू,  डिफेंस अप्लायड सर्विसेज, डेल्टा वालेस, भारत फोर्ज जैसी बड़ी कम्पनियां शामिल है।

Comments

Most Popular

To Top