DEFENCE

Special Report: मोदी के भूटान दौरे में रक्षा रिश्तों पर होगी बात

भूटान के प्रधानमंत्री डा. लोटे
फाइल फोटो

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी 17 और 18 अगस्त को भूटान का राजकीय दौरा करेंगे। विदेश सचिव विजय गोखले ने यहां यह ऐलान करते हुए कहा कि प्रधानमंत्री का भूटान दौरा पड़ोसी पहले की नीति के तहत हो रहा है और वह भूटान के साथ रिश्तों को विशेष अहमियत देते हैं। इस दौरे में भूटान के प्रधानमंत्री के साथ बातचीत में प्रधानमंत्री मोदी आपसी रक्षा औऱ सामरिक मसलों पर भी बातचीत करेंगे। भूटान औऱ चीन की सीमा पर चल रहे विवाद के मद्देनजर भारत द्वारा भूटान के साथ विशेष सामरिक और रक्षा सहयोग का रिश्ता काफी अहम रखता है।





विदेश सचिव ने कहा कि प्रधानमंत्री का भूटान दौरा इस बात का सूचक है कि भारत भूटान के साथ रिश्तों को सर्वोच्च प्राथमिकता देता है। भूटान दौरे में प्रधानमंत्री मोदी भूटान के राजा जिगमे खेसर नामग्याल वांगचुक से मिलेंगे और भूटान के प्रधानमंत्री लोते त्सेऱिंग से आपसी सहयोग के मसलों पर बातचीत करेगे। भूटान दौरे में प्रधानमंत्री मोदी थिम्पू में विश्वविद्यालय के छात्रों को भी सम्बोधित करेंगे। इस सम्बोधन में भारत भूटान रिश्तों की अहमियत को रेखांकित किये जाने की उम्मीद है।

भूटान के दावे वाले डोकलाम में तीन साल पहले चीन द्वारा किये गए अतिक्रमण के बाद भारत चीन रिश्तों में पैदा तनाव के बाद भारत के प्रधानमंत्री का भूटान दौरा काफी अहम हो गया है।

विदेश सचिव ने कहा कि भारत औऱ भूटान विशेष और समय की कसौटी पर खरा उतरे रिश्तों के अनुरुप है। दोनों के बीच आपसी हितों के मसलों पर आपसी समझ है जो कि जनता स्तर के सम्पर्कों से और मजबूत होते है। प्रधानमंत्री मोदी के भूटान के दौरे से दोनों देशों को आपसी सहयोग के रिश्तों को और मजबूत बनाने के लिये सहयोग के नये कार्यक्रमों पर चर्चा करने का मौका मिलेगा।

दोनों देश पनबिजली क्षेत्र में आपसी सहयोग के रिश्तों को और मजबूत करेंगे। मोदी के भूटान दौरे में एक पनबिजली घर का भी उद्घाटन होगा।

Comments

Most Popular

To Top