DEFENCE

Special Report: भारत-फ्रांस के रक्षा मंत्रियों ने रक्षा और सैन्य सहयोग की समीक्षा की

भारत और फ्रांस के रक्षा मंत्री

नई दिल्ली। फ्रांस में बने राफेल लड़ाकू विमान को ग्रहण करने के बाद केंद्रीय रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने फ्रांस की रक्षा मंत्री फ्लोरेंस पार्ली के साथ दूसरी भारत-फ्रांस रक्षा वार्ता की सहअध्यक्षता की। इस दौरान दोनों रक्षा मंत्रियों ने आपसी रक्षा और सैन्य सहयोग की गहन समीक्षा की। गौरतलब है कि फ्रांस की दासो कम्पनी भारतीय वायुसेना के लिये 36 लड़ाकू विमान बना रही है। इनकी आपूर्ति 2022 के मध्य तक हो सकेगी।





यहां रक्षा मंत्रालय के प्रवक्ता नेकहा कि दोनों देशों के बीच रक्षा सहयोग आपसी सामरिक साझेदारी का मुख्य स्तम्भ है। इस दौरान दोनों ने आपसी हितों के मौजूदा क्षेत्रीय और अंतरराषट्रीय मसलों पर विचारों का आदान-प्रदान किया। दोनों देशों की तीनों सेनाओं के बीच चल रहे साझा अभ्यासों गरुड़, शक्ति औऱ वरुणा की समीक्षा की। दोनों रक्षा मंत्रियों ने कहा कि हिंद महासागर में भारत औऱ फ्रांस के बीच आपसी सहयोग का रिश्ता एक-दूसरे की सुरक्षा औऱ सामरिक हितों का संवद्धर्न करेंगे। दोनों देशों के बीच मार्च, 2018 मे हिंद महासागर को लेकर संयुक्त सामरिक नजरिया का दस्तावेज जारी हुआ था। दोनों देश हिंद महासागर में शांति व स्थिरता के लिये मिलकर लागू कर रहे हैं। दोनों देशों ने प्रति आतंकवाद के क्षेत्र में भी आपसी सहयोग को जारी रखने का संकल्प जाहिर किया।

फ्रांस गए भारतीय रक्षा शिष्टमंडल में रक्षा सचिव अजय कुमार औऱ अन्य वरिष्ठ अधिकारी शामिल थे। इसमें तीनों सेनाओं के आला अधिकारी भी शामिल हुए।

Comments

Most Popular

To Top