DEFENCE

Special Report: भारतीय ब्रह्मोस मिसाइल लेना चाहता है चिली

ब्रह्मोस
फाइल फोटो

नई दिल्ली। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद के लातिन अमेरिकी देश चिली के दौरे में चिली के राष्ट्रपति भारत से ब्रह्मोस सुपरसोनिक मिसाइल की सप्लाई का आग्रह फिर कर सकते हैं। यहां विश्वस्त राजनयिक सूत्रों ने यह जानकारी दी। राष्ट्रपति कोविंद 30 मार्च से दो अप्रैल तक चिली के राजकीय दौरे पर रहेंगे।





चिली जाने के पहले राष्ट्रपति कोविंद 25 मार्च को मध्य यूरोपीय देश क्रोएशिया और लातिन अमेरिकी देश बोलीविया का भी दौरा करेंगे।

इन तीनों देशों के दौरे में राष्ट्रपति कोविंद इन देशों के साथ रक्षा सहयोग के सम्बन्ध स्थापित करने औऱ इन्हें गहरा करने के मसले पर भी बातचीत करेंगे।

इस बारे में यहां विदेश मंत्रालय के अधिकारियों ने बताया कि चिली के साथ रक्षा सहयोग के लिये समझौता पहले से ही लागू है। अब इन्हें आगे बढ़ाने के मसले पर चर्चा की जाएगी। गौरतलब है कि पिछले दशक के शुरू में भारत ने चिली को 04 अडवांस्ड लाइट हेलिकॉप्टरों की सप्लाई की थी। उसके बाद चिली और भारत के बीच रक्षा सहयोग ठप रहा। भारतीय अडवांस्ड लाइट हेलिकॉप्टरों के साथ चिली के अनुभव ठीक नहीं रहे इसलिये चिली ने भारत से आगे इन हेलिकॉप्टरों का सौदा जारी नहीं रखा। जहां तक ब्रह्मोस मिसाइलों के चिली को निर्यात का सवाल है चिली भारत से इस आशय का आग्रह पहले भी करता रहा है।

यहां विदेश मंत्रालय के अधिकारियों ने बताया कि चिली, क्रोएशिया औऱ बोलिविया के साथ भारत के दीर्घकालीन रिश्ते रहे हैं। इन देशों के लिये भारतीय राष्ट्रपति के दौरे से आपसी आर्थिक और राजनयिक रिश्ते और मजबूत होने की उम्मीद है।

गौरतलब है कि ब्रह्मोस सुपरसोनिक मिसाइलों की सप्लाई के लिये भारत से कई देशों ने आग्रह किया है लेकिन भारत इस बारे में फैसला लेने में हिचक दिखा रहा है। दक्षिण पूर्व एशिया के देशों में वियतनाम ने भी ब्रह्मोस मिसाइलों के आयात में रुचि दिखाई है।

Comments

Most Popular

To Top