DEFENCE

Special Report: पूर्वी लद्दाख में सामरिक महत्व के पुल का हुआ उद्घाटन

लद्दाख में बना पुल

नई दिल्ली।  केंद्रीय रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने पूर्वी लद्दाख में सामरिक रूप से अहम एक पुल का उद्घाटन किया है। दुर्बुग औऱ दौलतबेग ओल्डी को जोडने वाले इस पुल का नाम  कर्नल  चेवांग रिनछन ब्रिज रखा गया है। श्योक नदी पर बने इस पुल से चीन सीमा पर स्थित दौलत बेग ओल्डी तक सैनिकों की आवाजाही काफी आसान हो जाएगी।





इस पुल का उद्घाटन करते हुए रक्षा मंत्री ने कहा कि  मौजूदा सुरक्षा माहौल  को देखते हुए अपनी सीमाओं को मजबूत करना वक्त की मांग है। सीमांत इलाकों का विकास सरकार की योजना का अंतरंग हिस्सा है औऱ  उक्त पुल का उद्घाटन इसी रणनीति के तहत किया गया है। उऩ्होंने कहा कि  सरकार सीमांत ढांचागत विकास के लिये प्रतिबद्ध है।

राजनाथ सिंह ने कहा कि  भारत के चीन के साथ सौहार्दपूर्ण रिश्ते हैं। सीमा मसले को लेकर दोनों के बीच धारणात्मक मतभेद हैं। लेकिन इस मसले को काफी परिपक्वता और जिम्मेदारी के साथ  सुलझाया जा रहा है। दोनों देशों ने हालात को हाथ से बाहर नहीं जाने दिया। उन्होंने कहा कि कश्मीर भारत का अंदरूनी हिस्सा है। यहां तक कि चीनी राष्ट्रपति ने भी पिछले भारत दौरे में इस मसले को नहीं उठाया।   आतंकवाद के खिलाफ चीन का हाल का बयान भी महत्वपूर्ण है।

रक्षा मंत्री ने कहा कि लद्दाख को केन्द्र शासित प्रदेश बनाने का फैसला लद्दाख के लोगों की कई सालों की मांग पूरी करने वाला है। इससे इस इलाके के विकास के नये दरवाजे खुल गए हैं। रक्षा मंत्री ने कहा कि जम्मू कश्मीर के अनुच्छेद- 370 को निरस्त करने से आतंकवाद  औऱ अलगाववाद का दौर खत्म होगा।

राजनाथ सिंह ने कहा कि कर्नल  चेवांग ब्रिज के बन जाने से  लद्दाख और जम्मू-कश्मीर के  भीतरी इलाकों को जोड़ा जा सकेगा। इस तरह की पहल से लद्दाख के लोग भारत के  विकास की कहानी के भागीदार बन सकते हैं।

Comments

Most Popular

To Top