DEFENCE

Special Report: 2,000 करोड़ की स्वदेशी रक्षा खरीद को मिली मंजूरी

टी-90 टैंक
फाइल फोटो

नई दिल्ली। सेनाओं के लिये देश में ही बने दो हजार करोड़ रुपये लागत के हथियार खरीदने की मंजूरी रक्षा मंत्रालय की रक्षा खरीद परिषद (डीएसी) ने दी है। रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह की अध्यक्षता में हुई इस बैठक में ‘मेक इन इंडिया’ पर विशेष जोर दिया गया। इससे स्वदेशी रक्षा उत्पादन को भारी बढ़ावा मिलेगा।





रक्षा मंत्रालय की रक्षा खरीद परिषद की बैठक में लिये गए फैसलों की जानकारी देते हुए रक्षा मंत्रालय के प्रवक्ता ने उक्त जानकारी देते हुए कहा कि टी-72 और टी-90 टैंकों की 125 मिमी.की तोपों के लिये विशेष गोले आर्मर पियर्सिंग फिन स्टेबलाइज्ड डिस्कार्डिंग सेबोट (एपीएफ एसडीएस) के स्वदेशी विकास और उत्पादन को मंजूरी दी गई है।

डीएसी की बैठक में रक्षा शोध एवं विकास संगठन (DRDO) द्वारा विकसित और भारतीय उद्योगों द्वारा उत्पादित मैकेनिकल माइन लेयर ( सेल्फ प्रोपेल्ड ) भी खरीदने का फैसला लिया गया । इससे भारतीय थलसेना की स्वचालित तरीके से बारुदी सुरंगें बिछाने की क्षमता में भारी इजाफा होगा।

गौरतलब है कि सरकार रक्षा साज सामान के घरेलू उत्पादन को बढ़ावा देने के लिये ‘मेक इन इंडिया’ नीति लागू कर रही है। इसके तहत विदेशी हथियार कम्पनियों को भी भारत में निवेश करने के लिये प्रोत्साहित किया जा रहा है।

Comments

Most Popular

To Top